संभववाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

संभववाद के निम्नलिखित अर्थ हो सकते हैं:

वह स्थिति जिसके अंतर्गत मानव प्रकृति के बारे में जानने लगता है तथा प्रकृति के बलों से परिचित होता है सम्भववाद कहलाती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Tulasī prajñā, Jaina Viśva Bhāratī., 1982, पपृ॰ 59–60 (स्निपेट व्यू)
  2. Prītama Siṅghavī; Pārśva Śaikṣaṇika aura Śodhaniṣṭha Pratiṣṭhāna (1999), "Anekānta-vāda as the basis of equanimity, tranquality [sic] and synthisis [sic] of opposite view points", Pārśva Iṇṭaraneśanala Śaikshaṇika aura Śodhanishṭha Pratishṭhāna (स्निपेट व्यू)