संतोलादेवी मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

देहरादून से लगभग १५ कि॰मी॰ दूर स्थित प्रसिद्ध संतौला देवी मंदिर पहुँचने के लिए बस द्वारा जैतांवाला तक जाकर वहां से पंजाबीवाला तक २ कि॰मी॰ जीप या किसी हल्के वाहन द्वारा तथा पंजाबीवाला के बाद २ कि॰मी॰ तक पैदल रास्ते से मंदिर पहुँचा जा सकता है। यह मंदिर लोगों के विश्वास का प्रतीक है और इसका बहुत सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व है। लोकप्रिय कथानक के अनुसार दुश्मनों से मुकाबला करने में खुद को अक्षम पाने के बाद संतलादेवी और उनके भाई ने इसी जगह पर अपने हथियार फैंकने के बाद ईश्वर की प्रार्थना की थी। उनकी प्रार्थना सुनी गई और वे पत्थर की मूर्तियों में तब्दील हो गए। शनिवार को देवी और उनके भाई के पत्थर में बदलने के दिवस के रूप में देखा जाता है।