श्रीधर स्वामी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

श्रीधर स्वामी (१३वीं शताब्दी) के अन्त में इनका जन्म ओडिशा प्रान्त के बालेश्वर जिले में हुआ था। यह गोवर्द्धन मठ पुरी पीठ के 116 वें श्रीमज्जगद्गुरु शंकराचार्य थे। , भावार्थदीपिका नामक ग्रन्थ के रचयिता। भावार्थदेपिका, भागवत पुराण की सबसे प्रसिद्ध टीका श्रीधरीटीका के रचयिता श्रीधर स्वामी पाद ही हैं। ई.1471 के आस पास इनका निर्वाण हुआ था ।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]