व्यंग्यचित्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सन १९०८ में संडे टाइम्स में प्रकाशित हाथी और बेलन नामक व्यंग्यचित्र। इस व्यंग्य चित्र में गांधीजी को एक महावत के रूप में तथा भारतीय समुदाय को एक विशाल शक्तिशाली हाथी के रूप में चित्रित करते हुए व्यंग्य चित्रकार ने बताया कि किस प्रकार जनरल स्मट्स सड़क बनानेवाले बेलन के द्वारा इस हाथी को धकेलने की पुरजोर कोशिश कर रहा है, किंतु हाथी को परे धकेलने में वह सफल नहीं हो पा रहा है। अपनी असफलता से स्मट्स परेशान नजर आ रहा है।

व्यंग्यचित्र या कार्टून दृष्य कला का एक एक रूप है। कार्टून शब्द के अर्थ में समय के साथ विस्तार होता गया है। इस समय कार्टून शब्द का प्रयोग कई अर्थों में होता है। मूल रूप में, उस आरम्भिक रेखाचित्र (ड्राइंग) को कार्टून कहते थे जो किसी पेंटिंग को तैयार करने के दौरान बनायी जाती थी। इसके बाद, आधुनिक युग में समाचार पत्र एवं पत्रिकाओं में छपने वाले हास्योदपादक रेखाचित्रों को कार्टून कहा जाने लगा। आजकल तो कई अन्य प्रकार के चित्रों एवं चलित-चित्रों (एनिमेटेड विडियो) को भी कार्टून कहा जाने लगा है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

भारतीय व्यंग्यचित्रकार