वेई नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
निर्देशांक: 51°36′36.086″N 2°39′42.423″W / 51.61002389°N 2.66178417°W / 51.61002389; -2.66178417
वेई नदी (Afon Gwy)
River
River Wye at Hay-on-Wye.jpg
वेई हे-ओन-वेई पर
देश यूनाइटेड किंगडम
Parts वेल्स, इंग्लैण्ड
स्रोत
 - स्थान प्लिंलिमोन
 - ऊँचाई 690 मी. (2,264 फीट)
 - निर्देशांक 52°28′5.170″N 3°45′56.282″W / 52.46810278°N 3.76563389°W / 52.46810278; -3.76563389
मुहाना
 - स्थान चेप्स्टो, सेवर्ण एस्टूअरी
 - ऊँचाई मी. (0 फीट)
 - निर्देशांक 51°36′36.086″N 2°39′42.423″W / 51.61002389°N 2.66178417°W / 51.61002389; -2.66178417
लंबाई 215 कि.मी. (134 मील)
जलसम्भर 4,136 कि.मी.² (1,597 वर्ग मील)

वेई नदी (अंग्रेज़ी: River Wye, वेल्श: Afon Gwy) यूनाइटेड किंगडम की पांचवी सबसे लंबी नदी है और इंग्लैण्डवेल्स की सीमा को बांटती है। यह प्रकृति संरक्षण और पुनर्निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है।

व्युत्पत्ति[संपादित करें]

वेई का रोमन नाम "वागा" था जिसका अर्थ भटकने वाला या घूमना है। इसका शीर्षक वागास फ़ील्ड को भी संदर्भित करता है जो वाईटचर्च और चेप्स्टो में है।[1] आधुनिक वेल्श नाम "ग्वेइ" पुराने वेल्श नाम "ग्वेबियोल" या "ग्वेयर" से भी लिया गया हो सकता है।[2]

वर्णन[संपादित करें]

वेई का स्रोत वेल्श पर्वतों में प्लिंलिमोन है। यह कई शहरों व गावों के बिच से बहती है जिनमे र्हयाडर, बुलिथ वेल्स, हे-ऑन-वेई, हेयरफ़ोर्ड (एकमेव शहर जो वेई नदी पर है), रोस-ऑन-वेई, सायमंड्स याट, मॉनमाउथ और टिनटर्न शामिल है, से होते हुए चेप्स्टो के निचे सेवर्ण एस्टूअरी से मिलती है। इसकी कुल लम्बाई २१५ किलोमीटर है।[3]

वेई एक विशेष वैज्ञानिक आकर्षण की जगह, विशेष संरक्षण भाग और यूनाइटेड किंगडम की प्रकृति संरक्षण के तहत आने वाली बेहद महत्वपूर्ण नदी है। निचे की अधिकतम घटी अप्रतिम प्राकृतिक सौंदर्य का इलाका है। वेई प्रदुषण से बेहद दूर है और इसे यूनाइटेड किंगडम में स्कॉटलैंड के बाहर सालमन मछली के लिए बढ़िया नदी मन जाता था। परन्तु हालही के वर्षों में सालमन मछलियों की संख्या घट गई है।

इतिहास[संपादित करें]

रोमनों ने लकड़ी व पत्थर से बना पुल वर्तमान चेप्स्टो के नजदीक बनाया था। वेई नदी पहले और आज भी १४वि शताब्दी से मॉनमाउथ तक यातायात के काबिल है। इसे आगे छोटी दूरी तक सर विलियम सैंडिस ने हेयरफ़ोर्ड तक बढ़ाया ताकि जहाज़ वहां तक जा सके। हेयरफ़ोर्ड काउंसिल आर्कियोलोजी के अनुसार यह कार्य फ्लैश लोकों की सहायता से किया गया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. द टीदे मैप (1844)
  2. डेविड हैनकॉकस, डीन अर्कियोलोजी क्र. 11, 1998 p39 ISSN: 0954-8874
  3. रिवर्स एंड द ब्रिटिश लैंडस्केप, (2005), सु ओवन एटअल., कार्नेजी पब्लिशिंग, ISBN 978-1-95936-120-7

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]