विशेषज्ञ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भौतिक साक्ष्यों के परिक्षण एवम प्रतिवेदन को जो व्यक्ति न्यायालय के समक्ष तथ्यों को लेकर जाता है, उस मुख्य व्यक्ति को विशेषज्ञ कहते हैं। विशेषज्ञ प्रमाणित किए गए सभी परिक्षणों को अच्छे तरीक़े से जानकारी एकत्रित करने के अलावा सम्भंदित साहित्य में अपने से वरिष्ठ सहयोगियों की सहायता लेकर भी रिपोर्ट तैयार कर सकता है। विशेषज्ञ अपनी शैश्निक योग्यता, परीक्षण का प्रकार एवम अवधि, सम्बन्धी विषय में परिक्षण कार्य का अनुभव आदि के बल पर न्यायालय में अपनी योग्यता सिद्ध करता है।

विशेषज्ञ का महत्व[संपादित करें]

विशेषज्ञ जहाँ मत्वपूर्ण सबूतों को उनके महत्व के अनुसार जमा करते हैं, वहीं घटना स्थल पर ही प्रारंभिक परीक्षण करके अनावश्यक वास्तुओ को एकतृत करते हैं। विशेषज्ञ आत्महत्या, हत्या, और दुर्घटना की सम्भावना वाले व्यक्तियों की पहचान करते हुए न्याय की दिशा भी तय क्र सकते हैं। घटना स्थल पर पाए गए ऊँगली के निशान, पदचिन्ह, टायर चिन्ह आदि का संरक्षण करते हैं और शव परिक्षण के दौरान चिकित्सक को घटना स्थल एवम शव के बारे में उपयोगी जानकारी भी प्रदान करते हैं। विशेषज्ञ अपराधी के कार्य-शैली यानी उसके आने जाने और हत्या में हथ्यार इस्तेमाल करने के तरीक़े को भी बताने में सहायक होते हैं।[1]

विशेषज्ञ के प्रकार[संपादित करें]

अपराध की विवेचना हेतु विशेषज्ञ निम्न प्रकार के होते हैं:

  1. फॉरेंसिक विशेषज्ञ
  2. अंगुली चिन्ह विशेषज्ञ
  3. विस्फोटक विशेषज्ञ
  4. फोटोग्राफी विशेषज्ञ
  5. बैलिस्टिक विशेषज्ञ
  6. मेडिको-लीगल विशेषज्ञ

[2]

विशेषज्ञ की सीमायें[संपादित करें]

न्यायालय में वैज्ञानिक साक्ष्य को चौनोती देना मुश्किल कार्य है, इसलिए विशेषज्ञ की कुछ सीमाएँ भी होती है:

  • क्या विशेषज्ञ द्वारा वास्तविक प्रदर्श की पहचान की हैं?
  • क्या परिक्षण किए गए प्रदर्शो की प्रमाणिकता संदेह से पाए गए हैं?
  • क्या विशेषज्ञ द्वारा दी गई रिपोर्ट उचित एवम निर्धारित मापदंडो पर आधारित है?
  • क्या विशेषज्ञ की रिपोर्ट विश्वास करने योग्य है?
  • क्या विशेषज्ञ विषय विशेष पर शैशनी डालने की योग्यता रखता है?

[3] [4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Aristotle. "Rhetoric." Trans. W. Rhys Roberts. The Basic Works of Aristotle. Ed. Richard McKeon. New York: Modern Library, 2001. Print.
  2. Janet L. Starkes, K Anders Ericsson (2003) Expert Performance in Sports Advances in Research on Sport Expertise. p. 91
  3. (Gobet, de Voogt & Retschitzki 2004)
  4. Pfister, Damien. "Networked Expertise in the Era of Many-to-many Communication: On Wikipedia and Invention." Social Epistemology: A Journal of Knowledge, Culture, and Policy 25.3 (2011). Web.