विभ्रांति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बिना किसी वाह्य उद्दीपन (stimulus) के ही एक मिथ्या प्रत्यक्षण (perception) होना विभ्रांति (Hallucination) कहलाता है। यह प्रत्यक्षण मिथ्या होने पर भी वास्तविक जैसा प्रतीत होता है।