विभेदक मनोविज्ञान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

विभेदक मनोविज्ञान (Differential psychology) मनोविज्ञान की एक शाखा है जो व्यक्तियों के व्यवहार की विभिन्नताओं एवं उन भिन्नताओं के कारणों का अध्ययन करती है।

व्यक्तिगत विभिन्नताओं के जनक फ्रांसिस गाल्टन है।

विभेदक निदान[संपादित करें]

नैदानिक ​​मनोविज्ञान में विभेदक निदान, एक साथ कई निदान करने की संभावना का आकलन करने के लिए एक प्रक्रियात्मक विधि है।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]