विधवा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

जिस स्त्री के पति की मृत्यु हो गयी हो उसे विधवा कहते हैं। जिस पुरुष की पत्नी की मृत्यु हो गयी हो उसे विधुर कहते हैं। हमारी भारतीय संस्कृति में अनेक धर्मों का समावेश देखने को मिलता हैं | इन धर्मों में कई संस्कार देखने को मिलते हैं,जैसे जन्मोत्सव,विवाह,अन्तिम संस्कार आदि|विवाह संस्कार सभी धर्मों द्वारा माननीय पवित्र संस्कार होता हैं|इसमें एक लड़के लड़की को परिणय में बांधा जाता हैं और इस बंधन का नाम पति पत्नी दिया जाता हैं| जब पति की मृत्यु पत्नी से पहले हो जाती हैं तो पत्नी को नया नाम का रिश्ता मिलता हैं,जिसे विधवा कहते हैं |

धार्मिक विश्वास[संपादित करें]

हिंदू धर्म में विधवाओं को कई पाबंदियों का सामना करना पड़ता है। जैसे, अच्छा खाना खाने से परहेज करना, रंग-बिरंगी साड़ी और आभूषण न पहनना। आम तौर पर, विधवाओं को अपने स्तनों को खुला रखना पड़ता है और केवल सफेद मोटी साड़ी पहननी पड़ती है। इन सभी प्रथाओं को अब पिछड़ा माना जाता है और कई हिंदू सुधारों ने इन प्रथाओं के खिलाफ सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]