वार्ता:बौद्धिक सम्पदा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सही पुछा जाय लीखना नहीं चाहीये । रहा नहीं जाता है । सीकन्डर जीत गया । सभी नगरजनों ने वीजय मनाया । सैनीकों को मालुम पडा एक दीगम्बर साधु नहीं मान रहा है । उसके पास कुछ नहीं था । सीकन्दर को रीपर्ट की गयी है । सीकन्दर बोला मैं चलता हुं। वो दीगम्बर बोला मुजे क्या जरुरत है? मैं तो आराम से लेटा हुआ हुं । तुं पुरा सामाराज्य दे दे तो भी जरुरत नहीं है । एक टाईम का मील गया है । अब कल जरुरत पडेगा । सीकन्दर तलवार लेकर अपना खुदका सीर काटने जा रहा था । साधु बोला मैं चलकर तेरे ग्रीस में चल सकता हुं तेरे ग्रीस को मैं बदल दुन्गा । बेचारे सीकन्दर वापस नही पहोंच सका । साधु पहोच गया । वीध्यार्थी ओं से वीनंती वह कौन था । बौद्धिक सम्पदा का प्रश्र्न है? सही/= (नहीं कर सकता हुं) 59.184.134.16 १८:०३, १९ मार्च २००८ (UTC)