वार्ता:फर्नान्डो टोरेस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


फर्नान्डो टोरेस[संपादित करें]

फर्नांडो जोस टोरेस संज (स्पेनिश उच्चारण: फर्नांडो तोर्रेस) का जन्म २० मार्च १९८४ मे हुअ है । फेर्नन्दो तोर्रेस चेल्सी और स्पेन की राष्ट्रीय टीम के लिए एक स्ट्राइकर के रूप में खेलने वाले एक स्पेनिश फुटबॉल खिलाड़ी है ।उन्को अल नीनो के नाम से भि बुलय जत है जिसका मत्लब स्पेनिश में बच्चा होत है।

टोरेस ने एटलेटिको मैड्रिड के साथ अपने कैरियर की शुरुआत की थि और उस टीम के सात तोर्रेस ने १७४ ला लिगा कि मैच खेलि और जिस्मे तोर्रेस ने ७५ गोल दागे। तोर्रेस ने अपने ल लिगा के प्रथम प्रवेश के अलवा तोर्रेस ने सेगुन्दा प्रभाग में दो सत्रों निभाये है जिस्मे तोर्रेस ने ४० मैच मे ७ गोल दागे है। तोर्रेस २००७ में प्रीमियर लीग के लिवरपूल नमक क्लब में शामिल हो गए। तोर्रेस के लिवरपूल मे अपने फेहेले चरन मे २० लीग गोल दगि जो तोर्रेस के अलवा स्रिफ रोबी बहेलिया ने १९९५-९६ मे दिगी थि।

वह लिवरपूल के इतिहास में सबसे तेजी से ५० लीग गोल स्कोर करने वले खिलाड़ी बने। वह २००८ और २००९ में फीफा विश्व ११ मे सामील किये गये थे।तोर्रेस ने जनवरी २०११ मे चेल्सी में शामिल होने के लिए क्लब छोड़ दिया और उन्का ५० लाख पाउंड का एक रिकॉर्ड ब्रिटिश हस्तांतरण शुल्क देकर उसे इतिहास में सबसे महंगा स्पेनिश खिलाड़ी बनाया । चेल्सी के अपने पेहले चरन मे टोरेस एक अपेक्षाकृत कम गोल् स्कोरिंग रिकॉर्ड के लिए आलोचना प्राप्त होने के बावजूद, एफए कप और उएफ चैंपियंस लीग जीते। उन्के चेल्सी के बाद के चरन मे तोर्रेस ने २०१२/१३ के उएफ यूरोपा लीग के फिनल मे एक गोल दग कर चेल्से को उएफ यूरोपा लीग् को पेहेली जीतनेमे मदात की। तोर्रेस टीम के साथी जुआन माता के सात शामिल हो गए जो चैंपियंस लीग,यूरोपा लीग, विश्व कप और यूरोपीय चैंपियनशिप को एक साथ जीता।

टोरेस एक स्पेनिश अंतरराष्ट्रीय है और २००३ में पुर्तगाल के खिलाफ अपनी शुरुआत की।उन्को कहा कि १०० से अधिक बार छाया हुआ है और सभी समय के अपने देश की तीसरी सबसे ऊंची गोल करने वाले खिलाड़ी कर दिया गया है। यूईएफए यूरो २००४, २००६ फीफा विश्व कप, यूईएफए यूरो २००८, २०१० फीफा विश्व कप और UEFA यूरो 2012; स्पेन के साथ वह पांच प्रमुख टूर्नामेंट में भाग लिया है। स्पन ने बद मे ३ टूर्नामेंट जीते,जिस्मे तोर्रेस ने यूरो २००८ और यूरो २०१२ मे गोल दगा ।

शुरूअति कैरियर[संपादित करें]

फ़ूऍण्ळाब्ब्ऱाडा में जन्मे, मैड्रिड के समुदाय, टोरेस एक बच्चे के रूप में फुटबॉल में दिलचस्पी बन गए और पांच साल की उम्र में अपनी पहली टीम,पर्क़ुए ८४ में शामिल हो गए.उनके पिता जोस टोरेस, टोरेस क्बए चपन के दौरान काम किया करेते थे और उसकी माँ फ्लोरी संज प्रशिक्षण सत्र के लिए उसके साथ जती थि।

टोरेस एक गोलकीपर के रूप में फुटबॉल खेलना शुरू करे जो स्थिति उन्के भाई खेल्ते थे।वह सात साल का थे जब उन्होने स्ट्राइकर के रूप में नियमित रूप से खेलना शुरू कर दिया । तीन साल बाद, १० वर्ष की आयु में, वह ११ ओर कि टीम रयो १३ मेइन समिल हुये।तोर्रेस ने वह ५० गोल दगे जिस्के करन उन्के एटलेटिको के परीक्षण कमाने मोका मिला।

अंतरराष्ट्रीय कैरियर[संपादित करें]

फरवरी २००१ में टोरेस, स्पेन राष्ट्रीय अंडर -१६ टीम के साथ अल्गर्वे टूर्नामेंट जीता और्मई २००१ में यूईएफए यूरोपीय अंडर -१६ फुटबॉल चैम्पियनशिप में भाग लिया और उस टूर्नामेंट को जिते जिस्मे तोर्रेस ने एक मत्र गोल दग था ।सितम्बर २००१ में, टोरेस, ने फीफा अंडर -१७ विश्व चैंपियनशिप में अंडर -१७ टीम का प्रतिनिधित्व किया था। टोरेस पुर्तगाल के खिलाफ एक दोस्ताना में ६ सितम्बर२००३ को वरिष्ठ टीम के लिए पदार्पण किया था ।स्पेन के लिए उनका पहला गोल२८ अप्रैल २००४ को इटली के खिलाफ आया था ।उन्हे यूईएफए यूरो २००४ के लिए स्पेनिश टीम के लिए चुना गया था।

उन्होंने २००६ फीफा विश्व कप के ११ मैचों में ७ गोल दगे जो उन्हे स्पैन कै शीर्ष स्कोरर बनय और उन्होने बेल्जियम के खिलाफ महत्वपूर्ण दो गोल और सैन मैरिनो के खिलाफ अपना पहला अंतरराष्ट्रीय हैट्रिक मरा।२०१० मे फीफा विश्व कप में स्पेन के लिए अपना ६० वां प्रकट किया जिस्से वे पेले अएसे युव खिलैदी बने जिस्ने ये मुकम पये था। टोरेस को मई २०१० मे फीफा विश्व कप टीम के लिए चुना गया था ।टोरेस फाइनल में १०५ मिनट पर एक विकल्प के रूप में आए थे और वह फीफा विश्व कप ११ जुलाई २०१० को नीदरलैंड पर १-० से जीता। टोरेस बोस्क की यूईएफए यूरो २०१२ स्पैन के टीम में चुना गया था ।अपने पहले शुरूअत मे उन्होने दो गोल दगे और आयरलैंड को ४-० से हरय और उन्को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। यूईएफए यूरो २०१२ के फाइनल में तोर्रेस एक विकल्प के रूप में आए थे और उएहोने एक गोल और एक गोल मर्ने मे सहायता की और स्पैन् ४-० की जीत के साथ लगातार दूसरी बार यूरोपीय चैम्पियनशिप जीता। इस्के करन तोर्रेस गोल्डन बूट जित्ने मे कमेयब हुआ। २० जून २०१३ के फीफा कोन्फेदेरेओन् कप मे ताहिती पर एक १०-० की जित मिला जिसमे तोर्रेस ने ४ गोल दगे जिसे वह चार गोल स्कोर करने के लिए इतिहास में पहले व्यक्ति बने। टोरेस फीफा कोन्फेदेरेसन् कप में दो हैट्रिक स्कोर करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए।

संघ जीविका[संपादित करें]

रान्क दार रान्क प्रगाथि कर्ते हुए टोरेस ने १९९८ में अपना पहला महत्वपूर्न युवा खिताब जीता। १९९९ में, १५ साल कि उम्र मे टोरेस अट्लेटिको के सात पेशेवर अनुबन्ध पर हस्ताक्ष्रर किये। जुलाई २००३ मे, जल्दि ही संघ के आधिग्रहन के बाद चेल्सी की मालिक रोमन अब्रैमोविच ने टोरेस के लिये २८ मिलियन यूरोस बोली लगाई जिसे अट्लेटिको के बोर्ड ने खरिज कर दिया। सन २००३-०४ में सात्वें