वाराही

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

माँ वाराही हिन्दू धर्म की सप्तमातृका में से एक है। यह देवी दुर्गा का तामसि और सात्विक गुणधारि रुप है ।जो भगवान विष्णु के वराहावतार की शक्ति रूपा है। इनका शीश जंगली शूकर का है। श्री दुर्गा शप्तशति चण्डी के अनुसार शुम्भ निशुम्भ दो महादैत्यो के साथ जव महाशक्ति भगवती माँ दुर्गा का प्रचण्ड युद्ध हो राहा था तब माँ भगवती परमेश्वरी कि सहायता करने के लिए सभी प्रमुख देवता (भगवान शिव, भगवान विष्णु , भगवान ब्रह्मा , देवराज ईन्द्र , कुमार कार्त्तिकेेय)अपने कर्मो के आधार शक्ति स्वरूपा देवीऔ को अपने शरीर से निकल कर देवी दुर्गा के पास प्रेरित किया था । उसी समय भगवान विष्णु अपने अंशावतार वाराह के शक्ति माँ वाराही को प्रकट किया था ।