वाणिज्यिक बैंक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वाणिज्यिक बैंक या व्यावसायिक बैंक (कॉमर्शियल बैंक) उन बैंकों को कहते हैं जो धन जमा करने, व्यवसाय के लिये ऋण देने जैसी सेवायें प्रदान करते हैं। ऐसी वित्त संस्था,जो विभिन्न स्त्रोतो से चेक द्वारा निकाले जाने योग्य जमा राशि का संग्रह करके तथा साख सृजन के माध्यम से विभिन्न प्रकार की ऋणों की आपूर्ति करने,के कार्य की विशेषज्ञ हो। वाणिज्य बैंक कहते है।

वाणिज्य बैंक के कार्य :- A जनता से धनराशि स्वविकार करना। B. विभिन्य प्रकार के खाते खोलना। C. ग्राहकों के चेकों, मांग पर देय ड्राफ्टों विनिमय पत्रों, प्रतिज्ञा पत्रों आदि का संग्रहण करके उनके खातों, में जमा करना भी Commercial Bank का कार्य होता है। D. विनिमय पत्रों को क्रय करना एवं उन्हें सामान्य कमीशन पर भुनाना भी ब्यापारिक बैंकों का एक कार्य होता है। E. धनराशि का एक जगह से दूसरे जगह Transfer करवाना या करना भी ब्यापारिक बैंक का कार्य होता है। F. ग्राहक की आर्थिक स्थिति के संबंध में सूचना प्रदान करना। G. ब्यापार एवं लघु उदयोगों को आर्थिक सहायता Economical Help प्राप्त कराना भी इन बैंकों का प्रमुख कार्य होता है। H. अपने ग्राहक को जमानत देना। I. लॉकर की सुबिधा प्रदान करना। J. पूंजी विनियोजन में सहायता एवं पथ प्रदर्शन करना। K. विदेशी मुद्रा की ब्यवस्था करना। L. ग्राहकों के लिए एजेंसी सम्बंधित कार्य करना एवं ड्राफ्ट, यात्री , चैक , उपकार चेक , साख पत्र आदि निर्गमित करना ब्यापारिक बैंकों का मुख्य कार्य होता है।