वर्गीकरण पादपविज्ञान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

वर्गीकरण पादपविज्ञान (Systematic botany) के अंतर्गत पौधों के वर्गीकरण का अध्ययन करते हैं। पादप संघ, वर्ग, गण, कुल इत्यादि में विभाजित किए जाते हैं।

१८वीं या १९वीं शताब्दी से ही अंग्रेज या अन्य यूरोपियन वनस्पतिज्ञ भारत में आने लगे और यहाँ के पौधों का वर्णन किया और उनके नमूने अपने देश ले गए। डाक्टर जे. डी. हूकर ने लगभग १८६० ई. में भारत के बहुत से पौधों का वर्णन अपने आठ भागों में लिखी 'फ्लोरा ऑव ब्रिटिश इंडिया' नामक पुस्तक में किया है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]