लोक वानस्पतिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लोकवानस्पतिकी (Ethnobotany) वनस्पति विज्ञान की एक शाखा है जिसमें वनस्पतियों एवं लोगों के पारस्परिक सम्बन्धों का वैज्ञानिक अध्ययन किया जाता है। इसमें संस्कृतियों एवं पेड़-पौधों के आपसी जटिल सम्बन्धों को समझने एवं उनकी व्याख्या करने की कोशिश की जाती है। इसमें अध्ययन करते हैं कि विभिन्न संस्कृतियाँ पौधों का कैसे उपयोग करतीं हैं (जैसे भोजन, दवा, सौन्दर्य-प्रसाधन, रंजक, वस्त्र, भवन-निर्माण, हथियार, साहित्य, कर्मकाण्ड एवं सामाजिक जीवन में);

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]