लोकप्रिय मनोविज्ञान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लोकप्रिय मनोविज्ञान, पॉपुलर मनोविज्ञान या पॉपु मनोविज्ञान[1] मूल रूप से मनोविज्ञान के सिद्धांतों, शोध कार्यों पर आधारित शाखा है जिसमें आम व्यक्तियों को नजर में रखते हुए मनोविज्ञान की तकनीकी बातों का आसान रूप में प्रस्तुतीकरण करता है। यह अक्सर अति सरलीकृत और मिथकों के सम्मिश्रण से युक्त भी होता है, जैसे यह मिथक कि मनुष्य अपने मष्तिष्क की क्षमता का केवल 10% हिस्सा ही इस्तेमाल कर पाता है।[2] यह सामान्यतया उन पॉपुलर किताबों में वर्णित मनिविज्ञान के रूप में भी देखा जा सकता है जिन्हें सेल्फ़ हेल्प बुक्स के नाम से जाना जाता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. APA Dictionary of Psychology, 1st ed., Gary R. VandenBos, ed., Washington: American Psychological Association, 2007.
  2. Standing, Lionel G., and Huber, Herman. (2003) "Do Psychology Courses Reduce Belief in Psychological Myths?" Social Behaviour and Personality, 31(6), 585-592

ग्रन्थ सूची[संपादित करें]

  • Jarzombek, Mark. The Psychologizing of Modernity. Cambridge University Press, 2000.
  • Justman, Stewart. Fool's Paradise: The Unreal World of Pop Psychology. Chicago: Ivan R. Dee, 2005. ISBN 1-56663-628-0.
  • Cordón, Luis A. Popular Psychology: An Encyclopedia. Westport, Conn.: Greenwood Press, 2005. ISBN 0-313-32457-3.
  • Scripture, E. W. Thinking, Feeling, Doing. The Chautauqua Century Press, 1895. [1]
  • Jastrow, J. 1900. Fact and Fable in Psychology. Houghton, Mifflin and Company. The Riverside Press, Cambridge. [2]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]