लैम्बर्ट का कोज्या नियम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रकाशिकी में लैम्बर्ट के कोज्या नियम (Lambert's cosine law) के अनुसार किसी लैम्बर्टी तल से विकरित उर्जा की तीव्रता का प्रेक्षित मान उस तल के लम्बवत रेखा तथा प्रेक्षक के दृष्टि-रेखा (line of sight) के बीच के कोण के कोज्या के समानुपाती होता है। यह नियम 'कोज्या उत्सर्जन नियम' या 'लैम्बर्ट का उत्सर्जन नियम' भी कहलाता है। इस नियम को जोहान्न हेनरिक लैम्बर्ट ने १७६० में 'फोटोमेट्रिया' में प्रकाशित किया था।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]