रेडियोजैविकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रेडियोजैविकी (Radiobiology) आयुर्विज्ञान की एक शाखा है जिसमें जीवों के ऊपर आयनकारी विकिरण (रेडियेशन) के प्रभाव का अध्ययन करा जाता है। आयनकारी विकिरण जीवों की कोशिकाओं और ऊतकों पर बहुत हानिकारक या जानलेवा प्रभाव रखती हैं लेकिन कुछ सन्दर्भों में उनकी सीमित मात्रा से चिकित्सा भी करी जाती है, मसलन कर्क रोग (कैंसर) के कुछ उपचारों में यह भी शामिल है। अधिक मात्रा में आयनकारी विकिरण प्राप्त होने के भयंकर दुषपरिणाम होते हैं, जिनमें ऊतकों का जल जाना और वर्षों बाद तक कर्करोग का हो जाना सम्मिलित हैं। शरीर के अंदर का दृष्य देखने के लिए हल्की मात्रा में ऍक्स किरणों से भी आयनकारी विकिरण प्राप्त होता है।[1][2][3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Y. B. Kudriashov. Radiation Biophysics. ISBN 978-1-60021-280-2. Page xxi.
  2. Grady, Denise (October 6, 1998). "A Glow in the Dark, and a Lesson in Scientific Peril". The New York Times. Retrieved November 25, 2009.
  3. Rowland, R.E. (1994). Radium in Humans: A Review of U.S. Studies (PDF). Argonne National Laboratory. Retrieved 24 May 2012.