रूप नाथ सिंह यादव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

रूप नाथ सिंह यादव जनता दल पार्टी से राजनेता थे, जो छ्ठे लोक (1977 से 1979) सभा में प्रतापगढ़ लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से चुन कर सांसद बने।[1] वे एक वयोवृद्ध स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्होंने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय भाग लिया और जेल भी गये। उत्तर प्रदेश के विधान सभा के लिए निर्वाचित होने के बाद रूप नाथ सिंह ने कानून का प्रक्टिस छोड़ दी। इसके बाद चौधरी चरण सिंह के नेतृत्व में विधान सभा के दो बार सदस्य बनकर मंत्री परिषद में शामिल हुये और एक बार लोक सभा में चुने गये। उत्तर प्रदेश विधान सभा के सदस्य (1967-70) के दौरान स्थानीय स्वशासन के लिए कृषि और कैबिनेट मंत्री के लिए उप मंत्री के रूप में अपने राज्य की सेवा की। संसदीय के दौरान वेतन और संसद सदस्यों के भत्ते पर सदन और संयुक्त समिति की सहमति से संबंधी समिति के सदस्य थे। श्री यादव ने समाज के दलित और कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए लगातार काम किया।[2]

रूप नाथ सिंह यादव की मृत्यु 83 वर्ष की आयु में, 13 फरवरी, 2001 को इलाहाबाद में हुई।

सन्दर्भ[संपादित करें]