राष्ट्रीय राजमार्ग २३३बी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

उत्तर प्रदेश राज्य के पूर्वी हिस्से को छत्तीसगढ के बिलासपुर को जोडता है यह मार्ग यह मार्ग बस्ती, फैजाबाद,गोरखपुर,आजम

गढ़,विन्ध्याचल, बिलासपुर मण्डल में है

मार्ग की स्थिति[संपादित करें]

इस मार्ग का सयुंक्त प्रस्ताव माननीय सासद सनत कबीर नगर श्री त्रिपाठी सासद डुमलीयागज श्रीपाल, सासद बलरामपुर श्री सिंह तथा विधायक इटवा, विधायक गोपालपुर, विधायक खलीलाबाद, बिधायक धनघटा तथा विधायक आलापुर श्री सोनकर जी ने संयुक्त प्रस्ताव सडक मन्त्री श्री गडकरी को भेजा अगस्त में मंत्री जी ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया तथा इसके लिए अनुमति राशि ₹234,567, 345 प्रदान कर दी है इसके निर्माण का कार्य गायत्री कार्टर ने लिया है।

स्थिति[संपादित करें]

ये राज्यमार्ग नेपाल बॉर्डर के जिले सिद्धार्थ नगर प्रारम्भ होकर सन्त कबीर नगर जिले के खलीलाबाद एवं अम्बेडकर नगर के बिडहर घाट से होते हुए यह रामबाग से होकर यह गोरैया बाजार होकर कम्हरिया होकर यह पदुमपुर, मखनहा से होकर यह बुढ़नपुर होते हुऐ ये आजमगढ जिले के कोईलसा बाजार से होकर यह आजमगढ के बैठोली से होकर मऊ के जहानागज, चिरैयाकोट, से होकर गाजीपुर के सैदपुर से होते हुये यह चंदौली के चिकनहा होते हुये यह सकलडीहा से सीधे चंदौली से सिकन्दयपुर से होकर यह सोनभद्र के रेनकोट राबर्टगज से होकर यह गोविन्द सागर पार करके यह छतीसगढ़ के विकविक्पुर से होकर रायपुरवा होते हुऐ यह बिलासपुर तक पहुँच जाता है।

अवलोकन[संपादित करें]

इस मार्ग के बीच से सीधे यह 350 मीटर की सहकारिता जमीन ली जाऐगी। किसान एव व्यवसायी की जमीन जानेपर लागत का 12 गुना मुवाजा प्रदान किया जाऐगा यानी अगर आपके जमीन का मूल्य ₹1,000,00 है तो आपको कास्थकारी लेकर आपको ₹18,000,00

ट्रोल[संपादित करें]

बहजी, इटवा, बिस्खोर, राजेसुल्तानपुर, जहानागज,शकलडीहा, पाण्डेपुर, बिलासपुर ग्रामीण

पुल/पुलिया का नवीनीकरण[संपादित करें]

  • बिस्खोर इटवा रोड पर नोबजवा पुल का चौडीकरण
  • बखिरा पुल का नवीनीकरण
  • मुखलिशपुर पुल का चौडी करण
  • पिकया पुल का चौडीकरण एव नवीनतम संस्करण
  • त्रिमौहनी नवीनीकरण चौडीकरण
  • आजमपुर नाले का चौडीकरण
  • सोनभद्रा पौल का चौडीकरण
  • बिमलपौर का चौडीकरण

निर्माण कार्य[संपादित करें]

इस राजमार्ग का निर्माण पाच चरणो में पूरा होगा

उत्तर प्रदेश[संपादित करें]

  • प्रथम चरण (इटवा, बिअखोर, बजनी, बासी, महदेवा, बखिरा)
  • द्वितीय चरण (खलीलाबाद, नाथनगर, धनघटा, रामबाग, कम्हरिया, सिघलपट्टी)
  • तृतीय चरण (राजेसुल्तानपुर, महराज गज,गद्दोपुर, बैठोली, चिरैयाकोट)
  • चतुर्थ चरण (खरिहानी, सैदपुर, शकलडीहा, चन्दौली, सिकन्दरपुर)
  • पंचम चरण (रेणुकोट, राबर्ट गज, गोविंद सागर,)

छतीसगढ़[संपादित करें]

  • प्रथम चरण (रायपुरवा, विक्कपुरम, बिलासपुर)
  • द्वितीय चरण (बिलासपुर,रायपुर)

मध्यप्रदेश[संपादित करें]

  • प्रथम चरण (लालगज, सतना, इनादौर, सतपुरम, चन्दपुरम)
  • द्वितीय चरण (बिटल, खैरबाद, जितनी,भोपाल)

बाईपास[संपादित करें]

इस चारलेन राजमार्ग पर निम्नलिखित जगहो पर बाईपास अथवा अन्नय मार्ग प्रस्तावित है

  • इटवा (इटवा के नोपुरवा से बिस्खोर रोड तक)
  • बखिरा (लेडुआ महदेव से पाण्डैय पुर तक खलीलाबाद रोड तक)
  • खलीलाबाद (NH 27 बाईपास)
  • राजे सुल्तानपुर (बासगाव से होकर सीधे राजेपुर गोपालबाग में (टान्डा राजेसुल्तानपुर राज्यमार्ग) से आजमगढ रोड तक)
  • महाराजगज (भैरो जी से सीधे रूपयनपुर)
  • बठौली (आजमढण बाईपास चार प्रकार)
  • चिरैयाकोट (चिरैयाकोट जहानागज रोड से इमाइलपुर से सैदपुर रोड तक)
  • सैदपुर (शक्लडीहा रोड से मेहनाजपुर रोड तक)
  • चंदौली (जी टी रोड पर )
  • सिकदरपौर (रेणुकोट रोड से लाल चोक तक)
  • राबर्टगज (सोनपुरवा से मखनखगज तक)
  • रेणुकोट (मेन चौक से गोविन्द सागर होकर)

मार्ग के नगर या कस्बा[संपादित करें]