रामसे बोल्टन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Iwan Rheon.jpg

रामसे बोल्टन जॉर्ज आर आर मार्टिन द्वारा रचित काल्पनिक चरित्र थे। इनका दर्शन गेम ऑफ़ थ्रोन्स में किया जा सकता है। इन्हें धारावाहिक का सच्चा महानायक एवं सर्वश्रेष्ठ पात्र माना गया है।[1][2]

श्रीमान रामसे एक सामन्त की अवैध संतान थे। इस कारण बचपन से ही ये जनता के उपहास के पात्र बन गए। परंतु अपनी क्षमता एवं योग्यता के बल पर इन्होंने ड्रेडफोर्ट किले पर अपना अधिकार जमाया। इसके पश्चात श्रीमान रामसे ने उपहास करने वालों से प्रतिशोध लेना प्रारम्भ कर दिया। सर्वप्रथम उन्होंने एक अन्य राजपुत्र थियौन ग्रेयजोय को पराजय कर विंटरफेल किले पर आधिपत्य जमा लिया। कुछ समय पश्चात स्वयंभू सम्राट स्थानीश भारतीयन ने एक विशाल सेना के साथ विंटरफेल पर आक्रमण कर दिया। वीर रामसे ने केवल बीस सैनकों की टोली का नेतृत्व करते हुए आक्रमणकारियों का अन्न भंडार ध्वस्त कर दिया। एक दुष्ट तांत्रिक महिला ने स्थानीश को सुझाव दिया कि वीर रामसे को पराजय करने के लिए उसे अपने बेटी का बलिदान करना होगा। तांत्रिक के झांसे में आकर स्थानीश ने अपने फूल सी निरपराध कन्या को एक यज्ञ संस्कार में जीवित जला दिया। जब वीर रामसे ने यह सुना, तो उन्होंने स्थानीश सबक सिखाने की ठान ली। एक विशाल घुड़सवार सेना की सहायता से उन्होंने शत्रु की सेना को पराजय कर दिया। दुर्भाग्यवश वीर रामसे का रामराज्य अधिक समय तक नहीं टिका। अगले ही वर्ष जॉन स्नो की म्लेच्छ सेना ने विंटरफेल पर आक्रमण कर दिया। बड़ी ही क्रूरता से जॉन स्नो की बहन सांसा स्टार्क ने वीर रामसे को कुत्तों से काट-काट कर मरवा दिया। इस प्रकार इस महापुरुष का दुखद अंत हुआ।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]