रत्नाकर पाण्डेय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डॉ रत्नाकर पाण्डेय वयोवृद्ध कांग्रेस नेता एवं सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस कार्यकरणी समिति) के सदस्य थे। वह संसद के पूर्व सदस्य थे,राज्यसभा में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करते थे। उन्हें पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और पूर्व यूपीए अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी के सबसे करीबी में से एक माना जाता था। डॉ पाण्डेय, हिंदी के अपने ज्ञान और आधिकारिक भाषा के रूप में इसके प्रचार के लिए जाने जाते थे। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से वे स्नातक थे और विदेशों में विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे। पाण्डेय को राज्यसभा में "शाउटिंग ब्रिगेड" के रूप में भी जाना जाता था। लंबे समय बीमारी के बाद 9 जून 2018 को डॉ पाण्डेय की मृत्यु हो गई।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "हिंदी के विद्वान रत्नाकर पांडे का निधन - वार्ता". 1 September 2018.