मोसाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मोसाद
मोसाद मुहर
मोसाद मुहर

मोसाद, इजराइल की खुफिया एजेन्सी है जिसकी स्थापना खुफिया संग्रह , गुप्त आपरेशन, और आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए किया गया था।

इतिहास[संपादित करें]

मोसाद का जन\म १३ दिसंबर १९४९ मे एक केन्द्रीय संस्थान के रूप में हुआ। उस समए के प्र्धान मंत्री डेवीड बेन गुरियन एक केंद्रीय शरीर चाहते थे जो की समन्वय और मौजूदा सुरक्षा सेवाओं सेना के खुफिया विभाग के बीच सहयोग कर सके। मारच १९५१ मे इसे पुनर्गठित किया गया और प्रधानमंत्री कार्यालय का एक हिस्सा बनाया गया।

आतंकवाद विरोधी इकाइयाँ[संपादित करें]

जेसा की हम सभ जानते हे मोसाद का जन्म आतंकवाद से लडने के लिए कीआ गया था। "कीदोन"के रूप मे यह एक विशेषज्ञ हत्यारों के एक विशिष्ट समूह है जो की कैसरिया शाखा के तहत काम याकोव कात्स् त्द्वारा वर्णित है। इस संगठन के बारे मे जादा जानकारी नहीं हे। इसके अधिक्तर जानकारिया गुप्त कर दि गई है। इस मे उन्ही का चुनाव होता हे जो की पहले आइ दी एफ मे काम कर चुके हे।

ऑपरेशन "रेथ ऑफ गाड"[संपादित करें]

यह मोसाद का एक गुप्त ऑपरेशन था जीसका मुल युद्श म्यूनिख हत्याकांड में शामिल सारे लोगो को मार गीराना था। मोसाद के मुल लक्ष्या आतंकवादी समूह काले सितंबर और फिलीस्तीनी मुक्ति संगठन ( पीएलओ ) थे। इजरायल के प्रधानमंत्री गोल्डा मीर द्वारा अधिकृत यह ऑपरेशन २० साल तक चला। इस ऑपरेशन के उपर चल चित्र भी बनाया गया,कुछ प्रमुख चल चित्र के नाम हे "म्युनिक", "सोवड ऑफ गीदियौन"।

बेल्जियम[संपादित करें]

मोसाद कनाडा के इंजीनियर की हत्या के लिए दोशी माना जाता हे। मोसाद का मानना था के वह कीसी से नहीं डरते वह अपने दुश्मनो को ज़रुरत परने पर पाताल से भी खोज लाएगे। उस इंजीनियर को मोसाद ने काफी बेरहमी से मारा था। लेकिन बादमे यफ भी सुनने को मीला की उसे सी आइ ए ने मारा था।

उरुग्वे[संपादित करें]

मोसाद ने १९६५ मे लातवियाई नाजी के सहयोगी ह्र्बट चुकरुस की हत्या की थी।

इटली[संपादित करें]

मोसाद ने सन १९८६ मे मोरदीची वनुनु नामक एक शक्स को पकरने के लिए शहद का जाल नामक एक चाल का प्र्योग कीया। उनका मुल् उद्शीय मोरदीची को वापस इजरायल लेकर जाना था कुकि मोरदीची ने इसराइल के परमाणु कार्यक्रम का उजागर कीआ था।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]