मोनी कुमार सुब्बा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

असम में लोकसभा के सबसे धनी कांग्रेस प्रत्याशी रहे तथा तीन बार लोकसभा के लिए चुने गए मोनी कुमार सुब्बा के बारे में केन्द्रीय जाँच ब्यूरो ने सर्वोच्च न्यायालय को कहा है कि वे भारत के नागरिक ही नहीं थे। राष्ट्रीयता के सम्बन्ध में उनके द्वारा पेश किए गए सभी कागज़ात फर्जी पाए गए। एक समाचार चैनल ने मई 2007 में खुलासा किया कि 51 वर्षीय सुब्बा मूलत: एक नेपाली नागरिक हैं जिनका नाम मोनी राज लिम्बो है। हत्या के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद वे 1973 में जेल से भाग गए थे।