मुदर क़बीला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मुदर या मुधर या मुज़र (अरबी: مضر‎, अंग्रेज़ी: Mudhar) एक अदनानी (उत्तरी अरब) क़बीला है। पारंपरिक रूप से इसके सदस्य अल-जज़ीरा क्षेत्र के पश्चिमी भाग में बसे हुए हैं, जिस से उस इलाक़े को 'दियार मुदर' (यानि: मुदरों का बसेरा) कहा जाता है।

अरबी क़बीलों में स्थान[संपादित करें]

अरबी क़बीले दो भागों में बांटे जाते हैं: अदनानी क़बीले (उत्तरी अरब) और क़हतानी क़बीले (दक्षिणी अरब)। अदनानी क़बीलों की दो बड़ी शाखाएँ हैं - एक तो मुदर है और दूसरी रबीअह (अरबी: ربيعة‎‎, अंग्रेज़ी: Rabi'ah) है। अदनानी क़बीले अपने-आप को अब्राहम के बेटे इस्माइल के वंशज मानते हैं। ऐतिहासिक रूप से मुदारों और क़हतानी क़बीलों में लड़ाईयाँ रहीं हैं।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Historians' History of the World: Parthians, Sassanids, and Arabs, Henry Smith Williams, pp. 16, Outlook Company, 1904, ... One of these was composed of the Arabs or Yemen (real or reputed), two others of the tribes which claimed descent from Ishmael, the Mudhar and Rabia. If a caliph or a caliph's vicegerent sided with the Yemen he had the Mudhar against him ...