मिस्र का उन्नीसवां वंश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मिस्र का उन्नीसवां वंश प्राचीन मिस्र का शक्तिशाली वंश था। इसकी स्थापना अमात्य रामेसेस प्रथम ने की थी, जिसे फैरो होरेम्हेब ने अपना उत्तराधिकारी चुना था। यह वंश रामेसेस द्वितीय और उसके विजयो के कारण जानी जाती है। [1]

फैरोओं की सूचि[संपादित करें]

  1. Kuhrt, Amélie (1997). The Ancient Near East. London: Routledge. p. 188