महाजनी लिपि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

महाजनी लिपि भारत के उत्तरी हिस्सों में लिखि जाती थी। अधिकतर इसे व्यापारी काम में लेते थे मारवाड़ी, हिंदी, एवं पंजाबी लिखने के लिये। [1] इस लिपि का आधार ब्राह्मी लिपि हैं।

इतिहास[संपादित करें]

महाजनी लिपि अधिकतर मारवाड़ी व्यापारी काम में लिया करते थे। व्यापारी पाठशालाएं में इसे सिखाया जाता था।

  1. पान्डे, अंशुमन (२०११-०७-१२). "एन४१२६: महाजनी लिपि को आइएसओ/आइईसी १०६४६ में शामिल करने का प्रस्ताव" (PDF). Working Group Document, ISO/IEC JTC1/SC2/WG2.