मर मिटेंगे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मर मिटेंगे
ऊसरवेल्लि
निर्देशक सुरेंदर रेड्डी
निर्माता बीवीएसएन प्रसाद
रसूल एल्लोर
लेखक वककंठम वामसी
कोरतला सिवा
अभिनेता जूनियर एनटीआर
तमन्ना भाटिया
प्रकाश राज
विद्युत जामवाल
रहमान
अधविक महाजन
पायल घोष
संगीतकार देवी श्री प्रसाद
छायाकार रसूल एल्लोर
संपादक गौतम राजू
स्टूडियो श्री वेंकटेश्वर सिने चित्र
वितरक श्री वेंकटेश्वर सिने चित्र
आर आर मूवी मेकर्स
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 6 अक्टूबर 2011 (2011-10-06)
समय सीमा 162 मिनट
देश भारत
भाषा तेलुगू
लागत 25 करोड़ (US$3.65 मिलियन)[1]
कुल कारोबार 27.7 करोड़ (US$4.04 मिलियन)[2]

मर मिटेंगे (तेलुगु: ఊసరవెల్లి, उच्चारण: ऊसरवेल्लि) 2011 की तेलुगू भाषा में बनी भारतीय एक्शन-थ्रिलर फिल्म है, जिसका निर्देशन सुरेंदर रेड्डी ने किया है। इस फिल्म में जूनियर एनटीआर और तमन्ना भाटिया मुख्य किरदार में हैं। इनके अलावा शाम, प्रकाश राज, पायल घोष, मुरली शर्मा, जया प्रकाश रेड्डी और रहमान सहायक भूमिका निभा रहे हैं। इस फिल्म को 2012 में गोल्डमाइंस टेलीफिल्म्स ने "मर मिटेंगे" नाम से हिन्दी में डब किया था।

कहानी[संपादित करें]

टोनी (जूनियर एनटीआर) पैसों के लिए कुछ भी कर सकता है। जब वो कश्मीर जाता है, वहाँ उसकी मुलाक़ात निहारिका (तमन्ना भाटिया) से होती है, जिसे आतंकी अपहरण कर ले जाते रहते हैं। उसे उस लड़की से प्यार हो जाता है, वो उसे उन आतंकियों से छुड़ा लेता है। बाद में उसे पता चलता है कि निहारिका की मंगनी पहले से राकेश (अधविक महाजन) से हो चुकी है। राकेश एक गुंडा और एक मंत्री का बेटा है, पर उसके गुंडे होने की बात निहारिका को पता नहीं होती है। जब उसे उसके गुंडे होने की बात पता चलती है तो वो उसके साथ रिश्ता तोड़ देती है। बाद में उसे टोनी से प्यार हो जाता है। इसके बाद टोनी उस राकेश को मार देता है। बाद में टोनी, निहारिका और चित्रा (पायल घोष) मंदिर जाते हैं। टोनी वहाँ किसी की हत्या कर रहा होता है कि चित्रा उसे देख लेती है।

इसके बाद कहानी कुछ पीछे चले जाती है, जिसमें दिखाया जाता है कि किस प्रकार निहारिका के याददाश्त जाने से पहले उन दोनों मिल चुके थे। निहारिका का भाई (शाम) एक गुप्त पुलिस अफसर होता है, जिसे गुंडे पहचान जाते हैं और उसके पूरे परिवार की हत्या कर देते हैं। उस परिवार में सिर्फ निहारिका ही बच निकलती है। हालांकि उसके सिर में एक गोली लग जाती है, जिससे वो मरती तो नहीं है, लेकिन डॉक्टर उसे बताते हैं कि वो जल्द ही सारी याददाश्त खोने वाली है। वो टोनी को अपने परिवार वालों की हत्या करने वाले सारे गुंडों को मारने के लिए बोलती है। अंत में टोनी उन सभी गुंडों को मार देता है, जो निहारिका के परिवार वालों की हत्या किए रहते हैं।

कलाकार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Oosaravelli movie budget". andhraboxoffice.com. मूल से 26 जून 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 July 2012.
  2. "Oosaravelli movie Collections". andhraboxoffice.com. मूल से 26 जून 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 October 2011.

Hhhh

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]