मध्यमण्डल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मध्यमण्डल पृथ्वी के वायुमण्डल में समतापमण्डल के ऊपर स्थित परत को कहा जाता है जो, सामान्यतः, ५० से ८० किलोमीटर की ऊचाई वाले भाग में पाई जाने वाली परत है।

विशेषताएं[संपादित करें]

इस परत में ऊंचाई के साथ तापमान गिरने लगता है और 80 किमी की ऊंचाई पर -100℃ रह जाता है।मध्यमण्डल कि ऊपरी सीमा की मध्यमण्डल सीमा कहते है।मध्यमण्डल में ही आकर ही उल्का पिण्ड जलकर नष्ट हो जाते है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

वायुमंडल की परतें
क्षोभमण्डल | समतापमण्डल | मध्यमण्डल | तापमण्डल | आयनमण्डल | बाह्यमण्डल