मणिप्रवालम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मणिप्रवालम, दक्षिणी भारत में प्रचलित एक साहित्यिक शैली थी जिसका उपयोग मध्यकालीन धार्मिक ग्रन्थों में किया गया था। यह तमिल और संस्कृत का मिश्रण थी।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]