भास्कर तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
भास्कर (स्कल्प्टर) तारामंडल

भास्कर या स्कल्प्टर (अंग्रेज़ी: Sculptor) खगोलीय गोले के दक्षिणी भाग में स्थित एक छोटा-सा तारामंडल है। इसकी परिभाषा १८वीं सदी में निकोलास लुइ द लाकाई (Nicolas Louis de Lacaille) नमक फ़्रांसिसी खगोलशास्त्री ने की थी।[1] 'भास्कर' का अर्थ संस्कृत में मूर्तिकार होता है।

भास्कर तारामंडल में १८ तारें हैं जिन्हें बायर नाम दिए जा चुके हैं, जिनमें से ६ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए जा चुके हैं। इस तारामंडल में बहुत सी गैलेक्सियाँ भी मिली हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]