भारद्वाज मुनि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भरतद्वाज ऋषि का आश्रम प्रयागराज के पास था। जहां वे अपने शिष्यों को अपने आश्रम में ही शिक्षा देते थे। आज भी इस क्षेत्र के पास के लोग अपने को भरद्वाज के कुल का मानते हैं।