भगन्‍दर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नालव्रण या भगन्दर एक रोग है।

भगन्दर [Fistula][संपादित करें]

यह एक रोग है। गुदा द्वार [Rectum] पर एक प्रकार की फोड़ा से पैदा होकर यह गुदा द्वार के अन्‍दर तथा बाहर नली के रूप में घाव [Blind and open ulcers] पैदा करता है। इन्गिलिश भाषा [English] मे इसे फिस्‍चुला [Fistula] कहते हैं। यह फोड़ा कुछ दिनों में फूट जाता है और उसमें से मवाद तथा दूषित रक्त निकलने लगता है। यह फोड़ा कभी-कभी बहुत चौड़ा तथा गहरा होता है। इस फोड़े के कारण रोगी व्यक्ति को गुदाद्वार के पास बहुत तेज दर्द होता है। It causes tearing in the region of anus and perineum and therefore termed as bhagandar.

भगन्दर के कारण, लक्षण ,जाँच व बचाव

कारण[संपादित करें]

भगन्दर रोग होने का सबसे प्रमुख कारण यह है कि जब किसी व्यक्ति के मलद्वार के पास कोई फोड़ा बन जाता है और उसमें जब कई मुंह बन जाते हैं और रोगी व्यक्ति इस फोड़े से छेड़छाड़ करता है तो उसे यह रोग हो जाता है। अधिक चटपटी चीजें खाने के कारण मलद्वार के पास फोड़ा हो जाता है जो आगे बढ़कर भगन्दर का रूप ले लेता है।