ब्रिक वर्क

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सजावटी ट्यूडर ईंट चिमनी, हैम्पटन कोर्ट पैलेस, ब्रिटेन
बारहवीं सदी के मंदिर brickwork, अयूथया, थाईलैंड
आंगन 2, यमन
Polychromatic और इंडेंट brickwork में एक मध्य विक्टोरियन छत पश्चिम लंदन में

ईंट का काम ईंटों और मोटाार का उपयोग करत ेहुए एक ईंटर द्वारा निर्मता चििाई है। ववशेष रूप से, ईंटों की पंक्ततयों को बुलाया पाठ्यक्रम-] 

ईंट इमारतों के निमााण के र्लए एक लोकविय माध्यम है, और ईंट के उदाहरण इनतहास के माध्यम से कांस्य युग के रूप में देखे जात हैं। लगभग 1400 ईसा पूव ाके समय से ईराक में िािीि डुर-कुररगाल्जू के झिग्गुरेट के फायर ईंट िहेरे, और पाककस्ताि में िािीि मोहेन्जो-दरो की ईंट की इमारतों को 2600 ईसा पूव ा के आसपास बिाया गया था। सुदूर (लेककि हीं छोडा गया) ईंटों से बिे ईंट के बहुत पुरािे उदाहरण यहूदी इलाकों में यरीहो, अिाटोर्लया में सेटल ह्यूक और पाककस्ताि के मेहरगढ़ जैस स्थानों में  पाए जात हैं। ये संरििाएं पाषाण युग से वतमााि ददि तक बि हैं। 

ईंट के कुछ दहस्सों में ईंट, बड़े और पपेरेंड शार्मल हैं। बबस्तर उस मोटाार पर है क्जस पर एक ईंट रखा जाता है। एक लंबवत ककसी भी दो ईंटों के बीि एक ऊध्वााधर जोड है और आमतौर पर-मोटाार से हमेशा भार िहीं होता है।  [1]

इि दहस्सों के आयाम आमतौर पर समक्न्वत होत ेहैं, जो दो ईंटें रखी जाती हैं, जो अलग-अलग छोर की तरफ से अलग होती हैं, उिके ऊपर एक ईंट की लंबाई के समाि एक समाि िौडाई होती है जो उि पर सबसे ऊपर होती है।

यूके में आमतौर पर ईंटों के र्लए उपयोग की जािे वाली एक समन्वयि मीदिक का एक उदाहरण निम्िािुसार है:[2][3][4]

  • आयामों की ईंटें 215 र्मलीमीटर x 102.5 र्मलीमीटर × 65 र्मलीमीटर; 
  • मोटाार बेड और एक समाि 10 र्मलीमीटर की िनतपूनता 

इस मामले में समन्वयि मीदिक काम करता है तयोंकक एक ईंट की लंबाई (215 र्मलीमीटर) एक ईंट की चौडाई (102.5 र्मलीमीटर) के बराबर और एक िनत (10 र्मलीमीटर) प्लस दूसरी ईंट की िौडाई के बराबर होती है ( 102.5 र्मलीमीटर)।

अभिविन्यास[संपादित करें]

छह पदों

ईंट को एक वगीकरण ददया गया है क्जस आधार पर यह निधााररत ककया गया है, और कैसे समाप्त हुई िहेरे समाप्त दीवार के िहेरे के मुकाबले सबंंचधत है।

अपिे लंबे संकीण ासाइड के साथ फ्लैट रखे होत है। हेडर या हेडडगं ईंट इसकी िौडाई के साथ फ्लैट नछपे हुआ होता है। सैनिक ईंट अपिी लम्बी सकंीण ातरफ उजागर है। सैलोर ईंट खडी ईंट के व्यापक िहेरे के साथ उजागर है। रोतलोक ईंट को लंबे समय तक संकीण ातरफ ईंट के छोटे अंत के साथ उजागर ककया जाता है। शाइिर या रोवलॉक स्िेिर ईंट ववस्तृत िहेरे के साथ लंबी संकीणा को उजागर करता है। 

[5]

कटौती[संपादित करें]

जहां भी सभंव हो, बबिा खुलिे पूणा-आकार की ईंटों को बबछािे का अभ्यास ईंट को अचधकतम संभव ताकत देता है; 

██ Stretcher

██ Header

कभी-कभी यद्यवप एक जगह को कफट करि ेके र्लए एक ईंट काटा जािा िादहए, या ककसी ववशेष उद्देश्य को पूरा करिे के र्लए सही आकार होिा िादहए, जैसे एक ऑफसेट उत्पन्ि करिा- एक कोस ाकी शुरुआत में एक गोद-। कुछ मामलों में इि ववशेष आकार या आकार का निमााण ककया जाता है।:

██ Three-quarter bat – stretching: A brick cut to three-quarters of its length, and laid flat with its long, narrow side exposed.

संबंध[संपादित करें]

बिकवका में एक लगभग सावभाौर्मक नियम यह है कक िनतद्वंद्ववयों को दो लगातार पाठ्यक्रमों में खडी रूप से संरेझखत िहीं करिा िादहए एक दूसरी अभ्यास ववशषे रूप से ईंट के पुरािे उदाहरणों में पाया जाता है कक ईंट की ककसी भी ईंट की िौडाई की तुलिा में मोटी इमारत का मोटा होिा है। ऐसे मामलों में, कुछ ईंटों को दीवार की गहराई में एक साथ र्मलकर बांध ददया जा सकता है। उदाहरण के र्लए, एक पूवा-पक्श्िम लाइि का वणिा करिे वाली दीवार निमााणाधीि है, तो उत्तर-दक्षिण की ओर इंचगत करिे वाली ईंटों को दीवार की िौडाई में बिाया जा सकता है, उिकी लंबाई दो िौडाई वाली ईंट फैलेगी और अिुिस्थ ववमाि पर ईंटक बांधिा। ऐनतहार्सक रूप से, यह दीवारों के अिुिस्थ शक्तत को मजबूत करिे के र्लए िमुख ववचध था।  

दीवार संबंधों[संपादित करें]

गुहा की दीवार बीसवीं शताब्दी के मध्य में आगमि िे ईंट के निमााण को मजबूत बिािे की दूसरी पद्धनत का लोकविय था। एक गुहा की दीवार में दो पूरी तरह असतत दीवारें शार्मल हैं-क्जिमें स ेित्येक को एक वाईथ या पत्ती कहा जाता है। एक गुहा दो पवत्तयों को अलग करता है ताकक उिके बीि कोई चििाई का संबंध ि हो। आम तौर पर िींव द्वारा उठाए गए मुख्य भार आंतररक पत्ते से होत ेहैं, और बाहरी पत्ते के मुख्य काय ापूरे मौसम से बिात ेहैं, और एक उचित सौंदयबाोध िदाि करिे के र्लए हैं। यद्यवप दोिों पत्ते संरििात्मक भार को सािा िहीं कर सकत ेहैं, उिके अिुिस्थ कठोरता को अभी भी गारंटी की जरूरत है, और इंटरलॉककंग ईंटों के अलावा ककसी अन्य स्रोत से आिा िादहए। इस आवश्यकता को पूरा करिे के र्लए इस्तमेाल की जािे वाली डडवाइस, दीवार के संबंधों के नियर्मत अंतराल पर गुहा दीवार के मोटाार बेड में सक्म्मलि है। .[6][7]

मोटाई[संपादित करें]

बिकवका को एक ईंट मोटा मािा जाता है, अगर इसकी एक नियर्मत रूप से नियर्मत ईंटों की लम्बाईऔर चौड़ाई बराबर है। तदिुसार, एक पत्ती की एक दीवार एक आधा ईंट की मोटाई की दीवार है; सरलीकृत संभव चििाई वाले िांसेस्ड बॉन्ड के साथ एक दीवार को एक ईंट मोटी और इसी तरह कहा जाता है। एक दीवार के र्लए निददाष्ट मोटाई ऐसे कारकों द्वारा निधााररत ककया जाता है जैसे कक िम िूकफंग के वविार, िाहे दीवार की गुहा, लोड-असर आवश्यकताओं, व्यय और युग, क्जसके दौराि वास्तुकार या काम कर रहा था। वॉल मोटाई ववनिदेश काफी र्भन्ि साबबत हुआ है, और कुछ गैर लोड असर वाली ईंट की दीवारें आधे से अचधक ईंट की मोटी हो सकती हैं, जबकक अन्य ईंट की दीवारें बहुत मोटी होती हैं। र्शकागो में मोिदिॉक बबक्ल्डंग- उदाहरण के र्लए- एक बहुत लंबा चििाई वाली इमारत है, और लोड-असर वाली ईंट की दीवार आधार पर लगभग दो मीटर मोटी होती है। हालांकक अचधकांश ईंट की दीवारें आम तौर पर एक से तीि ईंटें मोटी होती हैं। इि अचधक मामूली दीवार की मोटाई पर, अलग-अलग पैटि ासामिे आये हैं, क्जससे दीवारों की ववर्शष्ट निददाष्ट मोटाई के र्लए ईंटों के संरििात्मक रूप से ध्वनि लआेउट की अिुमनत र्मलती है। 

फ्लेमिश बांड[संपादित करें]

इस बंधि में हेडर के बीि एक स्िेिर है, साथ ही हेडस ािीि ेददए गए पाठ्यक्रम में स्िेिर पर केंदित हैं।  [8]

जहां एक कोस ाएक क्तवि स्िेिर के साथ शुरू होता है, पाठ्यक्रम सामान्यतया दूसरे छोर पर एक क्तवि स्िेिर के साथ समाप्त होता है। अगला कोस ाएक तवॉइि हेडर से शुरू होगा। कोस ाकी दूसरी ईंट के र्लए, एक रािी करीब रखी गई है, बाडं की गोद पैदा करिे के र्लए। तीसरे ईंट के साथ एक स्िेिर है, और िीि ेददए गए शीषाक के ऊपर गोद-केक्न्ित करिे के र्लए। इस द्ववतीय पाठ्यक्रम में अनंतम जोड़ी तक पहुंििे तक स्िेिर और हैडर का जोडा शुरू होता है, जब तक कक दूसरी और अंनतम तवीि करीब निकटतम ईंट के रूप में डाली जाती है, पाठ्यक्रम की शुरुआत में व्यवस्था को र्मरर ककया जाता है, और बंधि को बंद ककया जाता है। 

फ्लेर्मश बंधि के कुछ उदाहरणों में एक रंग और अन्य के शीष ालखेकों के स्िेिर को शार्मल ककया गया है। यह िभाव आमतौर पर र्सररगं ईंटों के हेडर िहेरे का इलाज करिे का एक उत्पाद है, जबकक निमााण िकक्रया के भाग के रूप में ईंट बेक ककए जाता हैं। कुछ िमुख िहेरे लकड़ी के धुएं से निकलत ेहैं, एक भूरे रंग के िीले रंग का उत्पादि करत ेहैं, जबकक अन्य केवल जब तक वे गहरे िीले रंग तक िहीं पहुंित ेहैं फायररगं में िमक का उपयोग करिे के कारण कुछ हेडरों का िमिमात ेिहेरा होता है। कभी-कभी हेडडगं ईंटों के र्लए स्टैफ़डशाायर ब्लू ईंट का उपयोग ककया जाता है।  [9][10]

बिक वका क्जसमें फ्लेर्मश बंधि दोिों सामि ेऔर पीछे से िजर आता है उसे डबल फ्लेर्मश बंधि कहते हैं। यदद दीवार की व्यवस्था की जाती है तो पीछे की ईंटों में यह पैटि ािहीं होता है, तो ईंट का काम एकल फ्लर्ेमश बंधि मािा जाता है। [11]

एक ईंट की मोटाई के साथ फ्लेर्मश बाडं ईंटक एक स्िेिर के दोहराव पैटि ाहै, जो िहेरे के स्िेिर के पीछे तुरंत रखा जाता है, और उसके बाद बेशक, एक हेडर। एक गोद ित्येक ररयर कोसा पर रािी द्वारा उत्पन्ि होता है।  

भूमि के ऊपर योजना के लिए वैकल्पिक पाठ्यक्रम की फ्लेमिश बांड की एक ईंट की मोटाई

Brickwork dbl flem 1 thickness.svg
रंग कोडित योजनाओं पर प्रकाश डाला सामना करना पड़ रहा ईंटों में पूर्व-पश्चिम की दीवार है। एक ऊंचाई के लिए इस पूर्व-पश्चिम की दीवार के लिए दिखाया गया है।

भूमि के ऊपर योजना के लिए वैकल्पिक पाठ्यक्रम की फ्लेमिश बांड की दो और एक आधा ईंटों' मोटाई

Brickwork dbl flem 2.5 thickness.svg
रंग कोडित योजनाओं पर प्रकाश डाला सामना करना पड़ रहा ईंटों में पूर्व-पश्चिम की दीवार है। एक ऊंचाई के लिए इस पूर्व-पश्चिम की दीवार के लिए दिखाया गया है।

भूमि के ऊपर योजना के लिए वैकल्पिक पाठ्यक्रम की फ्लेमिश बांड से तीन ईंटों की मोटाई

Brickwork dbl flem 3 thickness.svg
रंग कोडित योजनाओं पर प्रकाश डाला सामना करना पड़ रहा ईंटों में पूर्व-पश्चिम की दीवार है। एक ऊंचाई के लिए इस पूर्व-पश्चिम की दीवार के लिए दिखाया गया है।

साधु बांड[संपादित करें]

बांड के सबसे समर्मत रूप में िीि ेददए गए पाठ्यक्रम में दो स्िेिर के बीि लंबवत पर केंदित हेडस ाके साथ इस बाडं के दो स्िेिर हैं। [12]

ससेक्स बांड[संपादित करें]

इस बॉन्ड के ित्यके हेडर के बीि तीि स्िेिर हैं, हेडस ािीि ेददए गए पाठ्यक्रम में तीि स्िेिर के मध्य बबदंु से ऊपर केंदित हैं।  [13]

बांड के िनैतज रूप से ववस्ताररत अिुपात चििाई के लंबे दहस्सों जैसे कक बगीि े की दीवारों या एक ररबि झखडकी पर ईंटकायर िलािे के र्लए सूट करता है; इसके ववपरीत, बांड एक सतह के र्लए कम उपयुतत है, जो कक कई ववशषेताएं हैं, जैसे कक जॉक्जयााई बहािा हेडर का अपेिाकृत दुलभा उपयोग ससेतस बंधि को कम महंगी बाडंों में से एक बिािे में काम करता है क्जसमें एक दीवार का निमााण होता है, तयोंकक यह एक समय में तीि स्िेिर िलािे के बाद ईस्टर वाले को तजेी से आगे बढ़िे की अिुमनत देता है। .[10]

एक खींच कोर्स के प्रति बढ़ पाठ्यक्रम[संपादित करें]

अंग्रेजी बांड[संपादित करें]

इस बाडं में स्िेिस ाऔर मचथंग पाठ्यक्रमों को बारी बारी से बदल ददया जाता है, साथ ही हेडस ास्िेिर के र्मडपॉइंट पर केक्न्ित होत ेहैं, और ित्येक वैकक्ल्पक कोस ामें गठबंधि में नछि करत ेहैं। रािी बंदररयों को दूसरे ईंट के रूप में ददखाई देता है, और पाठ्यक्रमों के शीषा पर पहुंििे वाली ईंट। कभी-कभी हेडर के र्लए एक म्यूट रंग योजिा कभी-कभी इंक्ग्लश बांड में इस्तमेाल होती है, जो बिकवका के र्लए सूक्ष्म बिावट देती है। इस तरह की योजिाओं के उदाहरणों में िीले-भूरे रंग के हेडर हैं क्जिमें अन्यथा लाल ईंट हैं- जो इंग्लडैं के दक्षिण में-और एक भूरे रंग की भूरी दीवार में हल्के भूरे रंग के हेडर थ,े अतसर इंग्लडैं के उत्तर के कुछ दहस्सों में पाए जात ेहैं।  । [10]

भूमि के ऊपर योजना के लिए वैकल्पिक पाठ्यक्रम अंग्रेजी के बांड की एक ईंट की मोटाई

Brickwork eng 1 th.svg
रंग कोडित योजनाओं पर प्रकाश डाला सामना करना पड़ रहा ईंटों में पूर्व-पश्चिम की दीवार है। एक ऊंचाई के लिए इस पूर्व-पश्चिम की दीवार के लिए दिखाया गया है।

अंग्रेजी पार बांड[संपादित करें]

डच, Linacre कॉलेज, ऑक्सफोर्ड.

इस बंधि िे पाठ्यक्रमों को खींििे और बढ़ि ेका ववकल्प है। हालाकंक, जबकक हेडडगं पाठ्यक्रम मािक इंक्ग्लश बॉन्ड में पाए जािे वाले समाि हैं, स्िेिर से पूरी तरह से तैयार ककए गए कोस ाके बीि वकैक्ल्पक पाठ्यक्रम है, और स्िेिर से ऊपर या िीि ेदो पाठ्यक्रमों के संबंध में स्िेिर आधा ऑफ-सेट के सापेि पाठ्यक्रम है। ककसी भी अंत में ररक्ततयों से पहले एक हेडर के कारण रखता है। यह बाडं उत्तरी फ्ांस, बक्ेल्जयम और िीदरलडैं में व्यापक रूप से र्मलता है।। [14]

दो या दो से अधिक खींच कोर्स के प्रति बढ़ पाठ्यक्रम[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Reports of artisans selected by a committee appointed by the council of the Society of Arts to visit the Paris Universal exhibition, 1867.
  2. Brunskill, p. 39.
  3. British Standards Institution.
  4. The Compressive Strength of Modern Earth Masonry, Andrew Heath, Mike Lawrence, Peter Walker and Clyde Fourie.
  5. Sovinski, p. 43.
  6. Emmitt, pp. 232, 233.
  7. David Yeomans.
  8. Smeaton, pp. 29–30.
  9. Brunskill, pp. 57–58.
  10. Arch.
  11. Brunskill, p. 91.
  12. The Dictionary of Art.
  13. Lloyd, p. 440.
  14. Brunskill, p. 50.