बाबिल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बाबिल के इश्टर द्वार का चित्रण

बाबिल आजकल के ईराक क्षेत्र की सुमेर के पश्चात दूसरी सभ्यता। इस की भाषा सुमेर की भाषा से भिन्न थी। इसे बेबीलोनियन सभ्यता के नाम से भी जाना जाता है। बाबिल नगर जो इसी नाम के साम्राज्य की राजधानी था, आजकल के बगदाद से ८० किलोमीटर दक्षिण में स्थित था। बेबीलोन प्राचीन मेसोपोटामिया का एक नगर था। यह बेबीलोनिया साम्राज्य का केन्द्र था। 2019 में, बाबुल को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। बाबुल में वर्तमान में हजारों लोग प्राचीन शहर की दीवारों के भीतर रहते हैं और निर्माण को प्रतिबंधित करने वाले कानूनों के बावजूद समुदाय तेजी से बढ़ रहे हैं।[1]

ये भी देखें[संपादित करें]

  • बेबीलोन सभ्यता मृत्यु-सिकंदर की ३२ वर्ष (11 जून, 323 ईसा पूर्व) की उम्र में नेबूचड्नेज़्ज़र द्वितीय के महल में, बेबीलोन(इराक)में मौत हुई थी।
  1. https://whc.unesco.org/document/168481