फ्लोएम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जूट के तने का अनुप्रस्थ काट:
1. मज्जा,
2. प्रोटोजाइलम,
3. जाइलम I,
4. फ्लोइम I,
5. दृढ़ ऊतक,
6. कार्टेक्स,
7. अधिचर्म

फ्लोएम पौधों में पाया जाने वाला एक संवहन ऊतक है, दूसरा संवहन ऊतक जाइलम है। फ्लोएम एक जटिल स्थाई ऊतक है। यह संवहन वंडल के अन्दर पाया जाता है। इसका निर्माण चार प्रकार की कोशिकाओं से हुआ है।
१. चालनी नलिकाएँ
२. सह कोशिकाएँ
३. फ्लोएम मृदूतक
४. फ्लोएम तन्तु


जाइलम- जाइलम निर्जीव ऊतक हैं। ये जड़ों से जल और घुले हुए लवणों को पत्तियों में पहुँचाते हैं। ये ऊपर की और गति कराते हैं।




फ्लोएम- फ्लोएम सजीव ऊतक हैं। ये पत्तियों में तैयार शर्करा को पौधे के सभी भागों तक पहुँचाते हैं। यर नीचे की तरफ गति कराते हैं।