फोटोग्राममिति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

फोटोग्राफ लेकर उसकी सहायता से मापन करना फोटोग्राममिति (Photogrammetry) कहलाता है। इसकी सहायता से सतह पर स्थित बिन्दुओं की स्थिति (निर्देशांक) की गणना की जा सकती है। फोटोग्राममिति उतना ही पुराना है जितना आधुनिक फोटोग्राफी, अर्थात १९वीं शताब्दी का मध्यकल। एक सरल उदाहरण के तौर पर, फोटोग्राफिक छबि के समतल (photographic image plane) के समान्तर स्थित किसी समतल पर स्थित दो बिन्दुओं का फोटो लेकर और फोटो में उनके बीच की दूरी मापकर उन बिन्दुओं के बीच की दूरी की गणना की जा सकती है। इसके लिये फोटो का पैमाना (स्केल) ज्ञात होना चाहिये।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]