प्रोलेक्टिन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
प्रोलैक्टिन की 3-डी संरचना

प्रोलेक्टिन एक कार्बनिक यौगिक है एवं जंतुओं में हार्मोन की तरह कार्य करता है। महिलाओं में इसका सम्बन्ध दूग्ध निर्माण से है।

यह हार्मोन महिलाओं में गर्भकाल के दौरान स्तनों में वृद्धि और दुग्ध स्त्रावण का प्रेरक है इसके साथ ही यह पक्षियों में घोसलें का निर्माण , पैतृक संरक्षण , कबूतर में क्रॉप ग्रंथि के निर्माण में प्रेरित करता है ।

प्रोलैक्टिन (Prolactin) पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा निर्मित एक हार्मोन है जो शरीर में प्रजनन और चयापचय (Metabolism) कार्यों को विनियमित करने में मदद करता है।[संपादित करें]

प्रोलैक्टिन और प्रोलैक्टिन परीक्षण को समझना[संपादित करें]

प्रोलैक्टिन मस्तिष्क में पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा निर्मित होता है। इसे पीआरएल (PRL) या लैक्टोजेनिक हार्मोन (Prolactin Hormone) के रूप में भी जाना जाता है। प्रोलैक्टिन मुख्य रूप से महिलाओं को प्रसव के बाद दूध का उत्पादन करने में मदद करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

यह पुरुष और महिला दोनों के प्रजनन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। पुरुषों में प्रोलैक्टिन का विशिष्ट कार्य (Prolactin Function) अच्छी तरह से ज्ञात नहीं है। हालांकि, पुरुषों और महिलाओं दोनों में यौन संतुष्टि को मापने के लिए प्रोलैक्टिन के स्तर का उपयोग किया गया है। एक प्रोलैक्टिन स्तर (Prolactin Levels) का परीक्षण हार्मोन के कारण होने वाली अन्य समस्याओं को प्रकट कर सकता है।

प्रोलैक्टिन टेस्ट क्यों किया जाता है?[संपादित करें]

महिला में प्रोलैक्टिनोमा[संपादित करें]

प्रोलैक्टिनोमा के लक्षणों वाली महिलाओं को परीक्षण (Prolactin Test) की आवश्यकता हो सकती है। प्रोलैक्टिनोमा पिट्यूटरी ग्रंथि पर एक गैर-कैंसरयुक्त ट्यूमर है जो प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर का उत्पादन करता है।

महिलाओं में प्रोलैक्टिनोमा के लक्षणों में शामिल हैं: –

  • अस्पष्टीकृत सिरदर्द
  • दृश्य हानि
  • अतिस्तन्यावण (Galactorrhea), या बच्चे के जन्म या नर्सिंग के बाहर दुद्ध निकालना
  • सेक्स के दौरान दर्द या बेचैनी
  • बालों में असामान्य वृद्धि
  • असामान्य मुँहासे

परीक्षण आमतौर पर उपचार के लिए ट्यूमर की प्रतिक्रिया का ट्रैक रखने के लिए प्रोलैक्टिनोमा वाले लोगों पर किया जाता है।

इसके अलावा, यदि आपको प्रजनन संबंधी समस्याएं या अनियमित माहवारी हो रही है तो प्रोलैक्टिन परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है। परीक्षण अन्य पिट्यूटरी ग्रंथि या हाइपोथैलेमस (Hypothalamus) समस्याओं को भी दूर कर सकता है।

पुरुषों में प्रोलैक्टिनोमा[संपादित करें]

यदि पुरुषों में प्रोलैक्टिनोमा के लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है। पुरुषों में प्रोलैक्टिनोमा के लक्षणों में शामिल हैं :-

  • अस्पष्टीकृत सिरदर्द
  • दृश्य हानि
  • सेक्स ड्राइव या प्रजनन समस्याओं में कमी
  • नपुंसकता
  • शरीर और चेहरे के बालों की असामान्य कमी

परीक्षण का उपयोग निम्न के लिए भी किया जा सकता है:-

  • टेस्टिकुलर डिसफंक्शन या इरेक्टाइल डिसफंक्शन की जांच करें
  • पिट्यूटरी ग्रंथि या हाइपोथैलेमस के साथ समस्याओं को दूर करें

प्रोलैक्टिन परीक्षण कैसे किया जाता है?[संपादित करें]

प्रोलैक्टिन टेस्ट ब्लड टेस्ट (Prolactin Blood Test) की तरह ही होता है। आपके डॉक्टर के कार्यालय या लैब में कुछ मिनट लगते हैं। आपको इसके लिए तैयारी करने की जरूरत नहीं है। नमूना आमतौर पर सुबह उठने के तीन से चार घंटे बाद एकत्र किया जाता है। आपके हाथ की नस से खून निकाला जाता है। बहुत कम दर्द होता है। जब सुई अंदर जाती है और बाद में कुछ हल्का दर्द होता है तो आप केवल एक हल्की चुटकी महसूस कर सकते हैं।

कुछ जन्म नियंत्रण की गोलियाँ, उच्च रक्तचाप की दवाएं, या अवसादरोधी दवाएं परीक्षण के परिणामों को प्रभावित कर सकती हैं। परीक्षण किए जाने से पहले आप जो भी दवाएं ले रहे हैं, उनके बारे में अपने डॉक्टर को बताएं। नींद की समस्या, उच्च तनाव का स्तर और परीक्षण से पहले ज़ोरदार व्यायाम भी परिणामों को प्रभावित कर सकते हैं।

प्रोलैक्टिन  के खतरे क्या हैं?[संपादित करें]

प्रोलैक्टिन (Prolactin) परीक्षण में जटिलताओं का बहुत कम जोखिम होता है। खून निकालने के बाद आपको पंचर वाली जगह पर हल्की चोट लग सकती है। चोट लगने को कम करने में मदद के लिए सुई निकालने के बाद कुछ मिनट के लिए साइट पर दबाव बनाए रखें। आप बेहोश या हल्का महसूस कर सकते हैं।

दुर्लभ मामलों में, परीक्षण के बाद नस में सूजन हो सकती है, जिसे फेलबिटिस (Phlebitis) कहा जाता है। दिन में कई बार साइट पर लागू गर्म सेक के साथ फ़्लेबिटिस का इलाज करें।

अगर आपको ब्लीडिंग डिसऑर्डर है तो आपको लगातार ब्लीडिंग का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, यदि आप एस्पिरिन या वार्फरिन जैसी रक्त-पतला दवाएं ले रहे हैं, तो परीक्षण करने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं।

प्रोलैक्टिन  के सामान्य परिणाम क्या होते हैं?[संपादित करें]

आपका डॉक्टर यह आकलन करेगा कि आपके सामान्य स्वास्थ्य सहित कई कारकों के आधार पर आपके परिणाम सामान्य हैं या नहीं। विभिन्न प्रयोगशालाओं में प्रोलैक्टिन का मान थोड़ा भिन्न हो सकता है। सामान्य परिणाम आमतौर पर निम्नलिखित की तरह दिखते हैं (ng/mL = नैनोग्राम प्रति मिलीलीटर):

जो महिलाएं गर्भवती नहीं हैं (Women who are not pregnant) < 25 ng/mL
गर्भवती महिलाएं (Women who are pregnant) 34 to 386 ng/mL
नर (Males) < 15 ng/mL

प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर का क्या अर्थ है?[संपादित करें]

प्रोलैक्टिन के निम्न स्तर आमतौर पर महिलाओं या पुरुषों में चिंता का विषय नहीं होते हैं। हालांकि, प्रोलैक्टिन का बहुत उच्च स्तर, जिसे हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया (Hyperprolactinemia)  के रूप में जाना जाता है, एक गंभीर समस्या का संकेत दे सकता है। लगभग 10 प्रतिशत आबादी को हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया है।

गर्भावस्था के दौरान और नर्सिंग के दौरान बच्चे के जन्म के बाद प्रोलैक्टिन का उच्च स्तर (High Prolactin) सामान्य है। हालांकि, हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया एनोरेक्सिया नर्वोसा (Anorexia Nervosa) , यकृत रोग (Liver Disease), गुर्दे की बीमारी (Kidney Disease) और हाइपोथायरायडिज्म के कारण भी हो सकता है।

हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) पिट्यूटरी ग्रंथि के विस्तार का कारण बन सकता है, जो थायराइड हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी के साथ इलाज योग्य है। प्रोलैक्टिन का उच्च स्तर पिट्यूटरी ट्यूमर के कारण भी हो सकता है। इन ट्यूमर का इलाज चिकित्सकीय या शल्य चिकित्सा से किया जा सकता है।

कुछ दवाएं उच्च प्रोलैक्टिन स्तर (High Prolactin Levels) पैदा कर सकती हैं। रिसपेरीडोन (Risperidone) और हेलोपरिडोल (Haloperidol) जैसी मनश्चिकित्सीय दवाएं आपके स्तर को बढ़ा सकती हैं। मेटोक्लोप्रमाइड (Metoclopramide) आपके प्रोलैक्टिन के स्तर को भी बढ़ा सकता है। यह दवा आमतौर पर एसिड रिफ्लक्स या कैंसर की दवाओं के कारण होने वाली मतली के इलाज के लिए उपयोग की जाती है।

कुछ सामान्य तनाव कारक भी प्रोलैक्टिन के स्तर को बढ़ा सकते हैं। इन तनावों में निम्न रक्त शर्करा, ज़ोरदार व्यायाम गतिविधियाँ और यहाँ तक कि असुविधा के हल्के रूप शामिल हैं। यदि आपको पता चलता है कि आपके प्रोलैक्टिन का स्तर उच्च है, तो आपको अपने तनाव को कम करने और अपने रक्त शर्करा को लगातार स्तर पर रखने के तरीके खोजने की आवश्यकता हो सकती है।

लाल तिपतिया घास (Red Clover), मेथी (Fenugreek), या सौंफ (Fennel) आपके प्रोलैक्टिन के स्तर को बढ़ा सकते हैं। यदि आपको पता चलता है कि आपका प्रोलैक्टिन का स्तर उच्च है, तो इन सामग्रियों के साथ कुछ भी खाने से बचें।

प्रोलैक्टिन और प्रजनन क्षमता[संपादित करें]

कुछ मामलों में, उच्च प्रोलैक्टिन का स्तर बांझपन का कारण बन सकता है। प्रोलैक्टिनोमा ट्यूमर आपके पिट्यूटरी ग्रंथि पर दबाव डाल सकता है और हार्मोन के उत्पादन को रोक सकता है। इस स्थिति को हाइपोपिटिटारिज्म (Hypopituitarism) के रूप में जाना जाता है। पुरुषों में, यह कम सेक्स ड्राइव और शरीर के बालों के झड़ने का कारण बनता है। महिलाओं में, यह बांझपन का कारण बन सकता है।

हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया एक महिला के लिए गर्भवती होना मुश्किल बना सकता है। उच्च प्रोलैक्टिन का स्तर हार्मोन एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के सामान्य उत्पादन को बाधित कर सकता है। यह अंडाशय को अनियमित रूप से अंडे जारी करने या पूरी तरह से बंद करने का कारण बन सकता है।

दवाएं और अन्य प्रोलैक्टिनोमा उपचार ज्यादातर महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बहाल करने में मदद करते हैं। यदि आपको पता चलता है कि आपके पास उच्च प्रोलैक्टिन स्तर या प्रोलैक्टिनोमा ट्यूमर हैं, तो उपचार के बारे में तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। आप ट्यूमर को हटाने या कम करने के बारे में भी पूछ सकते हैं।

उच्च प्रोलैक्टिन स्तरों के लिए उपचार[संपादित करें]

डोपामाइन एगोनिस्ट जैसे ब्रोमोक्रिप्टिन (Bromocriptine) (पार्लोडेल और साइक्लोसेट) प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर के लिए सबसे आम उपचार हैं। ये दवाएं उच्च प्रोलैक्टिन स्तरों को नियंत्रित करने के लिए मस्तिष्क को डोपामाइन का उत्पादन करने में मदद करती हैं। वे प्रोलैक्टिनोमा ट्यूमर को भी कम कर सकते हैं।

आपका डॉक्टर सुझा सकता है कि आप कैबर्जोलिन लें। कैबर्जोलिन (Cabergoline) अन्य सामान्य प्रोलैक्टिनोमा दवाओं की तुलना में हल्के साइड इफेक्ट के साथ एक नया प्रोलैक्टिनोमा उपचार है। यदि आप ब्रोमोक्रिप्टिन सहित अन्य उपचारों से गंभीर दुष्प्रभाव का सामना करते हैं, तो कैबर्जोलिन के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

हर किसी का प्रोलैक्टिन स्तर डोपामाइन एगोनिस्ट के लिए अच्छी प्रतिक्रिया नहीं देगा। यदि वे दवाएं आपके प्रोलैक्टिन स्तर या प्रोलैक्टिनोमा में मदद नहीं करती हैं तो आपका डॉक्टर रेडियोथेरेपी का सुझाव दे सकता है।

यदि दवा आपके ट्यूमर को सिकोड़ नहीं पाती है तो आपका डॉक्टर सर्जरी का सुझाव दे सकता है। सर्जरी नाक या ऊपरी खोपड़ी के माध्यम से की जा सकती है। सर्जरी और दवा मिलकर आपके प्रोलैक्टिन के स्तर को सामान्य कर सकते हैं।

अपने प्रोलैक्टिन के स्तर को कम करने के लिए आप जो अन्य कदम उठा सकते हैं उनमें शामिल हैं:-[संपादित करें]

  • अपना भोजन बदलें  और अपने तनाव के स्तर को कम रखें
  • उच्च-तीव्रता वाले वर्कआउट या ऐसी गतिविधियों को रोकना जो आपको अभिभूत करती हैं
  • ऐसे कपड़ों से परहेज करें जिससे आपकी छाती असहज हो
  • गतिविधियों और कपड़ों से परहेज करना जो आपके निपल्स को अधिक उत्तेजित करते हैं
  • विटामिन बी -6 और विटामिन ई की खुराक लेना

विटामिन बी -6 डोपामिन उत्पादन प्रक्रिया का हिस्सा है, और उच्च स्तर प्रोलैक्टिन के स्तर को कम कर सकते हैं। विटामिन ई स्वाभाविक रूप से प्रोलैक्टिन के स्तर में वृद्धि को रोकता है। विटामिन या अन्य सप्लीमेंट्स के अपने सेवन को बदलने से पहले अपने डॉक्टर या पोषण विशेषज्ञ से बात करें।

सारांश[संपादित करें]

यदि आपकी प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर से संबंधित स्थिति है, तो आपका डॉक्टर आपको एंडोक्रिनोलॉजिस्ट (Endocrinologist) के पास भेज सकता है। एक एंडोक्रिनोलॉजिस्ट उपचार या सर्जरी के माध्यम से आपका मार्गदर्शन करने में मदद कर सकता है।

आपका डॉक्टर यह जांचने के लिए एमआरआई स्कैन का अनुरोध कर सकता है कि क्या प्रोलैक्टिनोमा ट्यूमर (Prolactinoma Tumor) आपके प्रोलैक्टिन के स्तर को बढ़ा रहा है। आपका डॉक्टर किसी भी मौजूदा ट्यूमर को सिकोड़ने के लिए दवा लिखेगा।

कभी-कभी आपके उच्च प्रोलैक्टिन स्तरों का कोई विशेष कारण नहीं होता है। इसे इडियोपैथिक हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया के रूप में जाना जाता है। यह आमतौर पर कई महीनों के बाद उपचार के बिना चला जाता है। यदि आपके प्रोलैक्टिन का स्तर कम नहीं होता है, तो आपका डॉक्टर संभवतः दवा लिखेगा।

उच्च प्रोलैक्टिन स्तरों के लिए उपचार प्राप्त करने के दौरान गर्भवती होना संभव है। यदि ऐसा होता है, तो तुरंत अपने डॉक्टर या एंडोक्रिनोलॉजिस्ट को बताएं। वे आपको अपनी दवा लेना बंद करने के लिए कह सकते हैं। हालाँकि, जब तक आपको ऐसा करने के लिए नहीं कहा जाता है, तब तक अपनी दवा लेना बंद न करें।

प्रोलैक्टिनोमा और हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया जीवन के लिए खतरा नहीं हैं। दवाओं के सबसे बुरे दुष्प्रभाव आमतौर पर उपचार के बाद चले जाते हैं। एक बार प्रोलैक्टिन का स्तर सामान्य होने पर उच्च प्रोलैक्टिन स्तरों के कारण होने वाली बांझपन को उलटा किया जा सकता है। यदि आपको दीर्घकालीन उपचार की आवश्यकता है तो भी आपके जीवन की गुणवत्ता उच्च बनी रहेगी।

प्रोलैक्टिन को स्वाभाविक रूप से कम करने के 5 तरीके[संपादित करें]

1. बैलेंस ब्लड शुगर (Balance Blood Sugar)

स्वाभाविक रूप से प्रोलैक्टिन को कम करने के लिए रक्त शर्करा को संतुलित करना एक अच्छा तरीका है। उच्च प्रोलैक्टिन का स्तर इंसुलिन असंवेदनशीलता और वसा भंडारण का कारण बन सकता है। जटिल कार्बोहाइड्रेट जैसे साबुत अनाज, जई, सब्जियां रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकते हैं। आवश्यक वसा जैसे ओमेगा 3, मछली का तेल, नट और बीज इंसुलिन प्रतिरोधकता को कम करने में मदद करते हैं।

2. किडनी या लीवर के स्तर की जाँच करें (Check Kidney or Liver Function Tests)

उच्च प्रोलैक्टिन का स्तर क्रोनिक किडनी रोग या लीवर खराब होने का संकेत हो सकता है। अपना निदान करवाना अच्छा होता है जो रक्त को विषमुक्त करने में मदद करता है। अगर बिना वजह प्रोलैक्टिन का लेवल ज्यादा है तो टेस्ट कराएं।

3. बीयर और शराब को हटा दें (Eliminate Beer and Wine)

शराब सामान्य रूप से एक कारक है जो प्रोलैक्टिन के स्तर को बढ़ाता है। शराब पीने से हार्मोन में व्यवधान और शरीर में सूजन हो सकती है। यह शरीर में तनाव के स्तर को बढ़ाता है। इसलिए यदि आप प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर से जूझ रहे हैं, तो इसका सेवन कम कर दें या शराब का सेवन पूरी तरह से बंद कर दें।

4. माइंडफुल मूवमेंट- व्यायाम (Mindful Movement – Exercise)

शारीरिक रूप से सक्रिय रहना जीवन का एक तरीका है। अपने शरीर को स्थानांतरित करना और इसके बारे में सावधान रहना बहुत महत्वपूर्ण है। आप कैसा महसूस कर रहे हैं, क्या शरीर में कोई दर्द या तकलीफ है? अपने शरीर के साथ जांच रखने की कोशिश करें और शरीर को सुनें। माइंडफुल मूवमेंट आपको यह सुनने के लिए प्रोत्साहित करता है कि आपका शरीर क्या व्यायाम करना चाहता है

इसके बजाय अपने आप को कुछ ऐसा करने के लिए धकेलें जो आपको वास्तव में पसंद नहीं है, तो यह आपकी मदद नहीं करेगा। अपने वर्कआउट से प्यार करना और प्रभावी वर्कआउट करना बहुत जरूरी है। एक्टिव रहने और एक्सरसाइज करने में फर्क होता है। सक्रिय होने का मतलब है कि आप अपने शरीर को हिला रहे हैं और पूरे दिन बैठे नहीं हैं।

व्यायाम का उद्देश्य मांसपेशी समूह और शरीर के अंग पर है। कुंजी वास्तव में बिना किसी विकर्षण या किसी विचार के अपने मन और शरीर के साथ जुड़ना है। प्रोलैक्टिन को स्वाभाविक रूप से कम करने के लिए इस प्रकार का व्यायाम फायदेमंद है क्योंकि यह तनाव को दूर करने का एक रूप है।

5. तनाव का प्रबंधन करें (Manage Stress)

जब आप स्वस्थ जीवन शैली के रास्ते पर जाने की योजना बना रहे हों तो तनाव प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण है। जब हम तनावग्रस्त होते हैं, तो हम कोर्टिसोल के उच्च स्तर को छोड़ते हैं, जो एक तनाव हार्मोन है। इसके जवाब में, हमारा शरीर हमें कथित तनाव से बचाने की कोशिश करता है। शरीर के लिए तनाव का मतलब खतरा है

इसलिए उच्च प्रोलैक्टिन का स्तर स्थिति से निपटने के लिए आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की कोशिश करता है। इसके अतिरिक्त, एक अध्ययन में पाया गया कि जिन महिलाओं को बचपन में किसी आघात का सामना करना पड़ा था, उनमें बाद के जीवन में उच्च प्रोलैक्टिन होने की संभावना अधिक होती है।

तनाव को प्रबंधित करने के तरीकों में शामिल हैं, रात में अधिक नींद लेना, अधिक बार भोजन करना, ध्यान, सचेत और सौम्य व्यायाम।