प्रावरणी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रेक्टस शीथ (rectus sheath) जो उदर को स्थिरता देता है

शारीरिकी में प्रावरणी या फ़ैशिया (fascia), जिसे अनौपचारिक रूप से धज्जी भी कहते हैं, संयोजी ऊतक की एक पट्टी या पर्ण होती है जो त्वचा के नीचे माँसपेशियों व अन्य आंतरिक अंगों से जुड़े और उन्हें घेरे, स्थाई रखे या अन्य अंगों से पृथक रखे। शरीर में अपने स्थान की गहराई के अनुसार फ़ैशिया को श्रेणीकृत करा जाता है: सतही प्रावरणी (superficial fascia), गहरी प्रावरणी (deep fascia) और पार्श्विक प्रावरणी (parietal fascia, visceral fascia)। प्रावरणी का अधिकांश भाग कोलेजन के रेशों का बना होता है, जिसका निर्माण फ़ाइब्रोब्लास्ट नामक कोशिकाएँ करती हैं।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Marieb, Elaine Nicpon; Hoehn, Katja (2007). Human anatomy & physiology. Pearson Education. प॰ 133. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-321-37294-9. https://books.google.com/books?id=x1uEB68iitwC&pg=PA133. 
  2. "Clinical relevance of fascial tissue and dysfunctions". Curr Pain Headache Rep. 18 (8): 439. 2014. doi:10.1007/s11916-014-0439-y. PMID 24962403.