प्रकाश प्रवर्धक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

प्रकाश प्रवर्धक एक यंत्र है जो सीधे प्रकाशिय सिगनल को, बिना किसी विद्युत सिगनल में परिवर्तित किये प्रवर्धित करता है। प्रकाश प्रवर्धक विवर रहित लेसर निर्माण की सोच का परिणाम है अर्थात जिसमें विवर को समाप्त किया जा सके। प्रकाश प्रवर्धक का उपयोग प्रकाशीय संप्रेषण और लेसर विज्ञान में होता है।

उच्च बिजली उत्पादन के लिए , पतला संरचना के साथ ऑप्टिकल एम्पलीफायरों किया जाता है। तरंगदैर्घ्य रेंज 633 एनएम के लिए 1480 एनएम है[1].

  1. "ऑप्टिकल एम्पलीफायर". http://www.hanel-photonics.com/tapered_amplifier.html.