पोटैशियम सायनाइड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पोटैशियम सायनाइड एक यौगिक है, जो रंगहीन नमक के जैसे दिखाई देता है। काफी हद तक यह शक्कर के जैसे दिखता है। यह पानी में आसानी से घुल जाता है। ज्यादातर इसका उपयोग सोने के खनन और कार्बनिक संश्लेषण में होता है। इसी तरह का उपयोग गहनों को साफ करने में भी किया जाता है।

यह अत्यधिक विषैला होता है, यह ठोस रूप में हाइड्रोलिसिस के कारण बहुत ही कम मात्रा में हाइड्रोजन सायनाइड का उत्सर्जन करता है, जिससे कुछ कुछ कड़वे बादाम की खुशबू आती है। हालांकि इस खुशबू को केवल कुछ ही लोग सूंघ सकते हैं, जिनमें आनुवंशिक विशेषता होती है।

निर्माण[संपादित करें]

इसका निर्माण करने के लिए हाइड्रोजन सायनाइड को पोटैशियम हाइड्रोक्साइड के जलीय घोल से साथ मिलाया जाता है। इसके बाद वाष्पीकरण द्वारा वैक्यूम की सहायता से इसे प्राप्त किया जाता है।

HCN + KOH → KCN + H2O

या इस तरह से भी इसे प्राप्त कर सकते हैं।

HCONH2 + KOH → KCN + 2H2O

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]