पुरुष एवं नागरिक अधिकार घोषणापत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
'पुरुष एवं नागरिक अधिकार घोषणापत्र' का 1789 में ले बर्बिये द्वारा बनाया गया चित्र। दायीं ओर की आकृति फ़्रांस को और बायीं ओर कानून को निरुपित करती है।

पुरुष एवं नागरिक अधिकार घोषणापत्र (फ्रेंच: La Déclaration des droits de l'Homme et du citoyen: La Déclaration des droits de l'Homme et du citoyenफ्रांसीसी क्रांति के सबसे महत्वपूर्ण कागजात में से एक है। इस पत्र में धर्म की स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, विधानसभा की स्वतंत्रता और शक्तियों के विभाजन के रूप में अधिकार, की सूचि की व्याख्या  करते हैं। सभी पुरुषों को ये अधिकार है। यह सभी लोगो के लिए भी कुछ अधिकारों के बारे में व्याख्या करता है। इस पत्र में कुछ प्राकृतिक अधिकारों के विचारों का उपयोग कर लिखा गया था, ये अधिकारों के सभी पुरुषों के लिए रहे हैं: वे हर समय और स्थानों में मान्य माना जाता है। वे मानव स्वभाव का अधिकार होने के लिए कहा जाता है। घोषणा के अंतिम विचार को नेशनल असेंबली (Assemblée nationale constituante) द्वारा 26 अगस्त 1789 को स्वीकार कर लिया गया।[1] यह लोगो के संविधान लिखने से पहले करने वाली पहली महत्वपूर्ण बात थी। इन कागजात ने न केवल पुरुषों के लिए बल्कि पुरे फ्रांस के लोगो के लिए बिना किसी अपवाद के उनके बुनियादी अधिकारों की व्याख्या की, लेकिन इस अधिकार ने महिलाओं की भूमिका के बारे में कुछ नहीं कहा। इसने दासत्व के बारे में भी कुछ नहीं कहा।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Some sources say 27 August because the debate was not closed.