पीटरहॉफ महल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
युनेस्को विश्व धरोहर स्थल
पीटरहॉफ महल
विश्व धरोहर सूची में अंकित नाम
मानदंड सांस्कृतिक: (i)(ii)(iv)(vi)
सन्दर्भ 540bis
शिलालेखित इतिहास
शिलालेख 1990 (14th सत्र)
पीटरहॉफ पैलेस (मुख्य भवन) और ऊपरी बगीचे का हवाई दृश्य

पीटरहॉफ महल (रूसी: Петерго́ф,)[1] पीटरहॉफ, सेंट पीटर्सबर्ग, रूस में स्थित महलों और उद्यान की एक श्रृंखला का हिस्सा है, जिसका निर्माण पीटर महान के द्वारा, फ्रांस के लुई XIV द्वारा बनवाये गये वर्सेल्स के महल की प्रतिक्रिया के रूप में करवाया गया था।[2] 1709 में इसे मूल रूप से स्थानीय निवास के लिए उद्दिष्ट किया गया था, लेकिन 1717 में पीटर महान के फ्रांसीसी शाही अदालत में अपनी यात्रा के परिणामस्वरूप वहाँ के महलों से प्रेरित हो उन्होंने उसी आधार पर महलों के निर्माण करने की मांग की,[2] इसी कारण पर्यटकों द्वारा इसे "द रूसी वर्सेल्स" के उपनाम से भी जाना जाता है।[3] 1714 और 1728 के बीच की अवधि में, डोमिनिको ट्रेज़ीनी द्वारा इसकी वास्तु-कला बनाई गई, और उन्होंने जिस शैली में काम किया वह पेट्राइन बारोक शैली के लिए नींव बन गया जिसे पूरे सेंट पीटर्सबर्ग में देखा जा सकता है।[4] इसके अलावा 1714 में, जीन-बैप्टिस्ट एलेक्जेंडर ले ब्लॉन्ड को बागों को परिकल्पित करने का काम दिया गया, यह कार्य उन्हें उनके अपने पिछले कार्य वर्सेल्स लैंडस्कैपर पर एंड्रे ले नोत्रे को सहयोग [5] देने के कारण सौपा गया था। फ्रांसेस्को बार्टोलोमो रस्त्रेली ने 1747 से 1756 तक रूस के एलिजाबेथ के लिए एक विस्तार कार्य पूरा किया। शहर के केंद्र के साथ महल-स्थापत्य कलाविशिष्ट समूह को यूनेस्को की विश्व विरासत स्थल के रूप में मान्यता दी गई है।

निर्माण[संपादित करें]

1721 में निस्टैड की संधि के साथ ही महान उत्तरी युद्ध की समाप्ति हुई, जिसके परिणामस्वरूप रूस ने स्वीडिश साम्राज्य के दावे वाले बाल्टिक सागर के अधिकांश हिस्सा अपने राज्य में मिला लिया। पीटर महान ने पूर्वी तट पर स्वीडिश प्रांतों पर सफलतापूर्वक कब्जा करने के बाद 1703 में अपनी नई राजधानी सेंट पीटर्सबर्ग का निर्माण पहले ही शुरू कर दिया था।[6] इस रणनीतिक स्थान ने नेवा नदी, जो फिनलैंड की खाड़ी में बहती थी के माध्यम से बाल्टिक सागर तक रूसी पहुँच बढ़ा दी। कोटलिन के द्वीप और सेंट पीटर्सबर्ग के उत्तर-पूर्व में स्थित अपने किले क्रोनस्टेड ने शहर के करीब पानी के उथलेपन के कारण एक प्रवेश द्वार और वाणिज्यिक बंदरगाह का उपयोग प्रदान किया।[7]

18वीं शताब्दी की शुरुआत में, पीटर द ग्रेट ने रूस के आधुनिकीकरण और पश्चिमीकरण के अपने लक्ष्य के एक हिस्से के रूप में पीटरहॉफ महल परिसर का निर्माण और विस्तार किया।[8]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Adrian Room, "Petrodvorets", Placenames of the world: origins and meanings of the names for over 5000 Natural Features, Countries, Capitals, Territories, Cities and Historic sites (1997)
  2. "Peterhof | Russia". Encyclopedia Britannica (अंग्रेज़ी में). Encyclopædia Britannica, inc. 2015-06-09. अभिगमन तिथि 2018-11-17.
  3. "Peterhof (Petrodvorets)". Saint-Petersburg.com. 2018. अभिगमन तिथि 2018-11-17.
  4. "Biography of Domenico Trezzini, architect in St. Petersburg". www.saint-petersburg.com. अभिगमन तिथि 2018-11-17.
  5. "Alexandre-Jean-Baptiste Le Blond | French landscape designer". Encyclopedia Britannica (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2018-11-17.
  6. "Second Northern War | Europe [1700–1721]". Encyclopedia Britannica (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2018-11-20.
  7. "Kronshtadt | Russia". Encyclopedia Britannica (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2018-11-20.
  8. "The Modernization of Russia | Boundless World History". courses.lumenlearning.com. अभिगमन तिथि 2018-11-21.