पानी का रंग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पानी का रंग अलग-अलग परिवेशों में भिन्न भिन्न होता है जिसमें पानी मौजूद होता है। अपेक्षाकृत कम मात्रा में पानी बेरंग दिखता है। शुद्ध पानी मामूली नीला रंग होता है जो मोटाई (स्तर) बढ़ते बढ़ते गहरा नीला हो जाता है। पानी का नीला रंग एक आंतरिक गुण है जो कि चयनात्मक अवशोषण और सफेद रोशनी के बिखरने के कारण होता है। विसर्जित तत्व या निलंबित अशुद्धियां पानी को एक अलग रंग दे सकते हैं। 🌊पानी रे 🌊पानी तेरा रंग कैसा जिसमे मिला दू तेरा रंग वैसा