परिपथ विश्लेषण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
विश्लेषण के लिये दो लूप वाला एक सरल परिपथ
इस परिपथ में लगे सभी प्रतिरोध R हों तो इस 'घन' के आमने-सामने के दो कोनों के बीच तुल्य प्रतिरोध (5/6)R होगा।

किसी परिपथ के सभी अवयवों (वोल्टता स्रोत, धारा के स्रोत, प्रतोरोध, संधारित्र, ट्रांजिस्टर आदि) के मान (या अन्य वैशिष्ट्य) दिये होने पर परिपथ की विभिन्न शाखाओं में धारा एवं नोडों की वोल्टता ज्ञात करना परिपथ विश्लेषण (Circuit analysis) कहलाती है।

वैश्लेषिक औजारों का उपयोग करते हुए किसी व्यक्ति द्वारा केवल सरल और प्रायः रैखिक नेटवर्कों का विश्लेषण ही किया जा सकता है। हजारों-लाखों अवयवों वाले बड़े परिपथों या अरैखिक अवयवों से युक्त परिपथों का विश्लेषण करने के लिये संगणक द्वारा परिपथ सिमुलेशन (circuit simulation) करना पड़ता है जिसमें कम्प्यूटर प्रोग्राम 'इटरेटिव सन्निकटन विधियों' का सहारा लेकर परिपथ विश्लेषण करता है।

परिपथ विश्लेषण ही परिपथ डिजाइन (सर्किट डिजाइन) का आधार है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]