नैनोकण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सिलिका के नैनोकणों के अलग-अलग आकारों का सूक्ष्मदर्शी से चित्रण - (a) 20 नैनोमीटर, (b) 45 नैमी, और (c) 80 नैमी। (d) वाला चित्रण (b) का ही बढ़ा हुआ रूप है।

नैनोकण (nanoparticles) १ से १०० नैनोमीटर तक का आकार रखने वाले कण होते हैं। नैनोप्रौद्योगिकी में कण की परिभाषा में उसके एक ईकाई के रूप में दिखने, यात्रा करने और अन्य गुण व व्यवहार प्रदर्शित करने को अनिवार्य ठहराया जाता है। नैनोकणों का रसायनिकी, जीवविज्ञान, चिकित्सा, इलेक्ट्रोनिकी और अन्य प्रौद्योगिकीविज्ञान की शाखाओं में बहुत महत्व है।[1][2][3][4]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Hubler, A.; Osuagwu, O. (2010). "Digital quantum batteries: Energy and information storage in nanovacuum tube arrays". Complexity. डीओआइ:10.1002/cplx.20306.
  2. Stephenson, C.; Hubler, A. (2015). "Stability and conductivity of self assembled wires in a transverse electric field". Sci.Rep.5. डीओआइ:10.1038/srep15044.
  3. Hubler, A.; Lyon, D. (2013). "Gap size dependence of the dielectric strength in nano vacuum gaps". IEEE. डीओआइ:10.1109/TDEI.2013.6571470.
  4. Hewakuruppu, Y. L.; Dombrovsky, L. A.; Chen, C.; Timchenko, V.; Jiang, X.; Baek, S.; Taylor, R. A. (2013). "Plasmonic "pump–probe" method to study semi-transparent nanofluids". Applied Optics. 52 (24): 6041–6050. PMID 24085009. डीओआइ:10.1364/AO.52.006041. बिबकोड:2013ApOpt..52.6041H.