नुमानसिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

निर्देशांक: 41°48′35″N 2°26′39″W / 41.809586°N 2.444258°W / 41.809586; -2.444258

सोरिया प्रान्त (लाल रंग में), स्पेन (राख के रंग में)

नुमानसिया (स्पेनी भाषा में: Numancia) एक प्राचीन सेल्टिबेरियन (Celtiberian) आबादी का नाम है जिसके अवशेष गर्रे (Garray) की नगर पालिका में सेरो दे ला मुएला पहाड़ी पर मिले हैं जो उत्तरी सोरिया शहर से 7 कि० मी० की दूरी पर स्थित है।

नुमानतिया सेल्टिबेरियन (Celtiberian) युद्धों में अपनी भूमिका के लिए प्रसिद्ध है। वर्ष 153 ई.पू. में नुमानतिया ने रोम के साथ अपने पहले गंभीर संघर्ष का अनुभव किया था। युद्ध के 20 साल बाद, वर्ष 133 ई.पू. में रोमन सीनेट ने शीपियो एमिलियानूस अफ्रिकानुस (Scipio Aemilianus Africanus) को नुमानतिया खत्म करने का काम दिया था। उसने 13 महीनों तक नुमानतियाइयों को अपने घेरे में ले रखा था। इससे नुमानतिया के लोग पूरी तरह से निराश और हताश हो गए। पराजय और अत्मसम्मान के बीच की मानसिक कशमकश के बाद नुमानतिया के वीर योद्धाओं ने हारकर दास बनने के बजाए शहर जला दिया और मुक्त मरने का निर्णय लिया, जो कि उस समय अपने आप में एक मिसाल थी।

नुमानतिया की दीवारों का आधुनिक युग में पुनर्निमाण

स्थान[संपादित करें]

सेल्टिबेरियन क़बीले और अन्य उप-आदिवासियों के ठिकानों का चित्र

नुमानतिया के खंडहर के सबसे नज़दीक कोई आबादी है तो वह सोरिया की प्रांत में गर्रे (Garray) का गाँव है। गर्रे नाम का यह गाँव ड्यूएरो (Duero) पुल के से लगकर बसा है। यह कम ही जानी-पहचानी प्रांतीय राजधानी सोरिया के छोटे-से शहर से कुछ ही मील की दूरी पर स्थित है।

रोम के साथ पहले गंभीर संघर्ष 153 ईसा पूर्व में उस समय प्रकट हुआ जब क्विंटस फ़ुलवियस नोबिलिओर राजदूत था। नुमानतिया ने सेगेदा शहर के कुछ भगोड़े अपराधियों को शरण दी थी जो बेल्ली नामक अन्य सेल्टिबेरियन (Celtiberian) से सम्बंधित थे। बेल्ली के सरदार, सेगेदा के कारूस ने युद्ध में रोम की विशाल सेना को बुरी तरह से पराजित करने में सफल रहे। इसी कराड़ी हार से उत्तेजित रोम की सेना ने नुमानतिया का घेराव किया और नई रणनीति के अंतरगत छोटी संख्या में हाथियों को तैनात किया। मगर यह योजना फी विफल रही।

वर्ष 133 ईसा पूर्व में अपनी अंतिम हार से पहले, नुमानतिया के लोगों ने युद्ध में कई बात विजय प्राप्त की। उदाहरण के लिए, वर्ष 137 ईसा पूर्व में, 20,000 रोमनों ने नुमानतिया के सेल्टिबेरियन (Celtiberian) लोगों के समक्ष आत्मसमर्पण किया (जिनकी संख्या 4,000-8,000 के बीच आंकी गई है)।

नुमानतिया का अन्तिम घेराबंदी[संपादित करें]

नुमानतिया की अंतिम घेराबंदी वर्ष 134 ईसा पूर्व में शुरू हुई थी। शीपियो एमिलियानूस अफ्रिकानुस (Scipio Aemilianus Africanus) उस समय एक रोमन राजदूत था जिसको 30,000 सैनिकों की एक सेना टुकड़ी की कमान प्राप्त थी। उसने अपने सैनिकों को वे एक लंबी घेराबंदी के लिए तैयार करने के उद्देश्य से क़िलाबन्दी की। प्रतिरोध निराशाजनक था लेकिन नुमानतिया ने आत्मसमर्पण से मना कर दिया और अकाल जल्दी से शहर फैलने लगा। आठ महीने बाद निवासियों की अधिकांश संख्या ने आत्महत्या को दास बनने उचित जाना और वही किया। केवल नाममात्र निवासियों ने थकावट और भूख से पीड़ित होकर विजयी रोमन सैनिकों के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

बाद का इतिहास[संपादित करें]

1 शताब्दी ई.पू. के आस-पास विनाश के बाद एक नियमित सड़क योजना तो सामने आई लेकिन कोई महान सार्वजनिक भवनों के बिना।

इसका क्षय तीसरी सदी में शुरू होता है, लेकिन रोमन चौथी सदी तक डटे रहे। बाद में छटी सदी से विसिगोथ कब्ज़े के संकेत मिलते हैं।

नुमानतिया के वस्तुओं का प्रदर्शन[संपादित करें]

नुमानतिया स्थल से कई वस्तुओं को सोरिया के शहर में म्यूज़ियो नुमातीनो नामक एक संग्रहालय में प्रदर्शित किया जा रहा है। इस संग्रहालय में भी नुमानतिया पर सीटू प्रदर्शित करने के लिए ज़िम्मेदार है।

प्रतीकवाद[संपादित करें]

नुमानतिया की घेराबंदी और प्राचीन आइबीरियाई लोगों की स्वतंत्रता की भावना की प्रशंसा की और रोमन इतिहासकारों ने की है। कई स्पेन की नौसेना के जहाजों को नुमानतिया / नुमानशिया नाम दिया गया है और एक सोरियाई बटालियन को नुमानतिया नामित किया गया है। स्पेन के गृह युद्ध के दौरान, राष्ट्रवादी नुमानतिया ने रेजिमेंट टोलेडो में आज़ान्या के शहर को अपने क़ब्ज़े में ले लिया था। रिपब्लिकन राष्ट्रपति मैनुअल आज़ान्या की स्मृति को मिटा करने के लिए, उन लोगों ने उसे नुमेंशिया दे ला सागरा का नाम दिया।

सोरियाई फ़ुटबॉल टीम सीडी नुमंशिया कही जाती है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]