नादिया बोलेंजर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नादिया बोलेंजर
Nadia Boulanger 1925.jpg
नादिया बोलेंजर 1925 में

जूलिएट नादिया बोलेंजर (French: [ʒy.ljɛt na.dja bu.lɑ̃.ʒe]; 16 सितंबर 1887 – 22 अक्टूबर 1979) एक फ्रेंच संगीतकार, संचालक, और शिक्षक थी। वह 20 वीं सदी के अग्रणी संगीत कंपोजरों और संगीतकारों में से कई की उस्ताद होने के लिए उल्लेखनीय है। वह कभी कभी एक पियानोवादक और अरगनिस्ट के रूप में प्रदर्शन भी किया करती थी।[1] उसने पश्चिमी संगीत की दुनिया को संगीत की उन बारीकियों से दुनिया को वाक़िफ़ कराया, जिन्हें पहले कभी पहचाना ही नहीं गया था।[2]

वह एक संगीत परिवार से थी और उसने पेरिस संगीतविद्यालय में एक छात्र के रूप में जल्दी सम्मान हासिल किये। लेकिन, उसने यह मानते हुए कि वह एक संगीतकार के रूप में कोई विशेष प्रतिभा नहीं है, संगीत लेखन छोड़ दिया और एक शिक्षक बन गई। इस क्षमता में, उसने युवा संगीतकारों की, विशेष रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका और अन्य अंग्रेजी बोलने वाले देशों से, कई पीढ़ियों को प्रभावित किया। नादिया के शागिर्दों में लियोनार्ड बर्नस्टाइन, आरोन कॉपलैंड, क्विंसी जोन्स, एस्टर पियाज़्ज़ोला, फिलिप ग्लास, जॉन इलियट गार्डिनर जैसे संगीतकार शामिल हैं।

नादिया ने पेरिस में पढ़ाई पूरी करने के बाद ब्रिटेन और अमरीका में मशहूर संगीत विद्यालयों, जिन्हों में जूलियट स्कूल, यहूदी मोइनोहिन स्कूल, रॉयल कॉलेज ऑफ म्यूज़िक और रॉयल अकेडमी ऑफ़ म्यूज़िक जैसी बड़ी संस्थाओं भी शामिल हैं, में संगीत का अधियापन किया, लेकिन अपने जीवन के अधिकांश के लिए उसका प्रमुख आधार उसके परिवार का पेरिस में फ्लैट था, जहां वह 92 वर्ष की आयु में अपनी मृत्यु तक अपने कैरियर के शुरू से ही सात दशकों के अधिकांश के लिए संगीत सिखाने का काम करती रही।

वह पहली महिला थी जिसने अमेरिका और यूरोप में कई प्रमुख आर्केस्ट्रा का संचालन किया, जिन्हों में बीबीसी सिम्फ़नी, बोस्टन सिम्फ़नी, हाले ऑर्केस्ट्रा और न्यूयॉर्क फिल्हार्मोनिक जैसे म्यूज़िक कॉन्सर्ट भी शामिल थे। उसने कोपलैंड और स्ट्राविंस्की द्वारा कार्यों सहित, कई विश्व प्रीमियरों का आयोजन किया।

जीवनी[संपादित करें]

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

नाडिया बोलेंजर फ्रेंच संगीतकार और पियानोवादक अर्नेस्ट बोलेंजर (1815-1900) और उनकी पत्नी रासा मििशेत्स्काया (1856-1935), एक रूसी राजकुमारी के घर 16 सितंबर 1887 को पेरिस में पैदा हुई थी। उनकी एक बेटी थी जिसकी नादिया के जन्म से पहले एक शिशु के रूप में मृत्यु हो गई थी। नादिया का जन्म अपने पिता के 72वें जन्मदिन को हुआ था।

सन्दर्भ[संपादित करें]