नरीमन हाउस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नरीमन हाउस को छाबड़ लुबाविच केंद्र के नाम से भी जाना जाता है[1][2][3]। यह पंचमंज़िला इमारत २६ नवंबर २००८ मुंबई में श्रेणीबद्ध गोलीबारी के समय आतंकवादियों द्वारा कब्ज़े में लिए जाने के बाद सबके समाचारों में आई। यह भवन यहूदियों की मदद करने के लिए बनाया गया एक केंद्र है, जहाँ यहूदी पर्यटक भी अक्सर ठहरते हैं। छाबड़-लुबाविच धर्म का पालन करने वाले लगभग ४००० दंपतियों ने विश्व के ७३ देश में छाबड़ हाउस खोल रखे हैं। मुंबई के छाबड़ हाउस को चलाने वाले दंपती के आतंकी हमले में मारे जाने के बाद कई देशों से युवा छाबड़-लुबाविच विश्वासी यहाँ पहुँचे हैं। २००३ में मुंबई में नवविवाहित होल्त्सबर्ग दंपत्ति ने नरीमन हाउस में पहला छाबड़ हाउस खोला था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियां[संपादित करें]