नथनिएल हव्थोर्ने

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अमेरिकी साहित्य‘नथनिएल हव्थोर्ने’ अमेरिकी लघु कहानी लेखक और रोमांस उपन्यासकार थे। वे 4 जुलाई १८०४, सलेम, मैसाचुसेट्स मे पैदा हुए थे। अमेरिकी साहित्य में सबसे बड़ी कथा लेखकों में से एक, 'द् स्कार्लेट लेत्तेर' (1850 ) और 'द होउसे ओफ द सेवेन गब्लेस' (1851) के लिए जाना जाता है।

नथनिएल हवथोरन

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

हव्थोर्ने के पूर्वजों 17 वीं सदी से सलेम में रहते थे। उन्के पहले अमेरिकी पूर्वज, विलियम हव्थोर्ने एक मजिस्ट्रेट थे, जिसने एक क्वेकर महिला को सजा सुनाई थी। उन्होंने कहा कि एक "शुद्ध" अप्रभावित धार्मिक पूजा के रूप में अपने पूरे जोश और् वकालत के साथ, नैतिकतावादी कट्टरपंथियों के एक कट्टर रक्षक के रूप में काम किया था। एक सरल, लगभग गंभीर, जीवन की विधा को कठोर पालन किया था। हव्थोर्ने 18 वीं सदी के दौरान अपने परिवार की समृद्धि और प्रसिद्धि में कमी की आश्चर्य करने लग था, जबकी अन्य सलेम परिवारों आकर्षक शिपिंग व्यापार से अमीर बन् रहे थे, इस अधिनियम के लिए तीन मे से एक के रूप में विलियम के बेटे जॉन सलेम जादू टोने परीक्षण की भूमिका के लिए एक प्रतिकार नहीं हो सकता था (१६९२)। नथनिएल के पिता-एक जहाज के कप्तान थे। उनके मृत्युजाहाज के यत्राओ के दौरान हो गई। वह साधन के बिना अपने युवा विधवा को छोड़ दी अपने दो लड़कियों और युवा नथानिएल जो चार् साल के होगे। वह अपने समृद्ध भाइयों, मन्निग्स के साथ चले गए। नथनिएल सलेम में उनके घर में बढ़ी हुई थी और् रेमंड, मेन में अपनी किशोरावस्था बिताइ, सेबगो झील के तट पर। वे ब्राउनश्विक मेन के बोव्दोइन् कॉलेज से शिक्षक लेकर् चार साल बाद १८२५ में सलेम पर लौट आए। हव्थोर्ने एक युवक के रूप में खुद को अलग नहीं किया था। इसके बजाय, वह लगभग एक दर्जन से अधिक वर्षों पढ़ने और उपन्यास लेखन की कला में महारत हासिल करने की कोशिश कर बिताया।

उनके काम और लेखन की शैली[संपादित करें]

हव्थोर्ने को खुद की आवाज , शैली, और विषयों धीरे-धीरे से प्रप्त हुइ। उन्होने कइ तरह् के प्रभावशाली और विशिष्ट कहानियाँ प्रकाशित किए, जेसे; 'द हल्लोव ओफ द् थ्री हिल्स'और 'अन ओल्द वोमन्स तले'। १८३२ मे, 'माइ किन्स्मन, मजोर मोलेनिएउक्ष' और 'रोगेर मल्विन्स बुरिअल' उनकी सबसे बड़ी दो कहानियों और बेहतरीन भाषा मे लीखे थे। 'यंग गुडमैन ब्राउन' शायद जादू टोने की सबसे बड़ी कहानी कभी लिखै होगे जो १८३५ में दिखाई दिया गया थ। इस कहानी से हव्थोर्ने का पेदाएश जगह् सलेम गाव के प्रथाओं को मुख्य आकर्षण की है जहा जादू टोने कीया जने की बात होती थी। उनकी बढ़ती सफलता उसे एक छोती सी प्रसिद्धि ले आया। बाद मे अपने चाचा के उपर निर्भर करने के लिए तैयार नहीं थे, वह कृषि सहकारी ब्रूक खेत में एक निवासी ( १८३९-१८४०) बोस्टन कस्टम हाउस,१८४१ में छह महीने के लिए दिया गया था जो वेस्त रओक्ष्बुर्य, मास मे था जहा उसे नौकरी करने के लिए दिया गया था। जब अपनी पहली हस्ताक्षर किए किताब, दो बार कहा किस्से जो १८३७ में प्रकाशित किया गया था। उन्के काम से उन्हे संतुष्टिदायक मान्यता ले आइ लेकिन कोई भरोसेमंद आय नही ले आया था। किन्तु साल् १८४२ तक, तथापि , हव्थोर्ने के लेखन उसे सोफिया पीबॉडी से शादी करने के लिए अनुमति देने लायाक् एक पर्याप्त आय ले आया था। दंपति कोन्कोर्द् में ओल्द मन्से किराए पर लिया और खुशी से तीन साल बीयताए जो बाद में अपने निबंध 'द ओल्द मन्से' के नाम पर् रिकॉर्ड बनाया था।

एक ही शैली के अन्य लेखकों[संपादित करें]

कुछ एसे प्रमुख सामाजिक विचारकों भी उपस्थिति थे, जैसे 'ऱपल्फ वल्दो एमेर्सोन','हेन्र्य थोरेऔ'और 'ब्रोन्सोन अल्कोत्त्'। एसे विचारकों ने कोन्कोर्द गाव को 'त्रन्स्सेन्देन्तलिस्म'के दर्शन का केंद्र बना दीया था जिनमें आदमी को भौतिकवादी दुनिया पार करने के लिए प्रोत्साहित किए गए है जहा अनुभव, तथ्यों और ब्रह्मांड के सर्वव्यापी भावना और मानव स्वतंत्रता के लिए योग्यता के प्रति सचेत हो जाते हैं।

अद्वितीय विशेषताएं[संपादित करें]

उनके उपन्यासो मे से,प्रमुख काम "द स्कार्लेत लेत्तेर', 'द होउसे ओफ द सेवेन गब्लेस', 'द मर्ब्ले फौन' थे। हव्थोर्ने अमेरिकन कथा लेखकों के बीच उच्च रैंक में कम से कम तीन बातों का परिणाम है। सबसे पहले, वह फार्म के एक प्रभावशाली आर्किटेक्चर भावना के साथ एक कुशल शिल्पकार था। उनकी महानता के लिए एक दूसरा कारण उसकी नैतिक अंतर्दृष्टि है। उन्हे नैतिक ईमानदारी की नैतिकतावादी परंपरा विरासत से मिला है। उनके श्रेष्ठता के लिए एक तीसरा कारण रूपक और प्रतीकों के बारे में है जो प्रभुत्व है।

मूल्यांकन[संपादित करें]

हव्थोर्ने के काम प्रतीकात्मक रोमांस है कि अपराध की सार्वभौमिकता को मान लिया गया है और जटिलताओं और आदमी की पसंद की अस्पष्टता की पड़ताल की है। उन्होने अमेरिकी उपन्यास में सबसे ज्यादा टिकाऊ परंपरा शुरू कीया है। उनकी सबसे बड़ी छोटी कहानियों और स्कार्लेट लेत्तेर के नैतिक अंतर्दृष्टि शायद ही कभी किसी अमेरिकी लेखक द्वारा बराबरी की गहराई से चिह्नित किये होगे।

सन्दर्भ[संपादित करें]